इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

बुधवार, 27 अक्तूबर 2010

कुछ कानूनों से कहा गया कि ..पटरी पर लेट कर आत्महत्या कर लो ..वैसे भी कौन जिंदा हो बे ! ......हा हा हा हा आज तो साला धोलिया उडा दिए हैं ..झाजी वक्रदृष्टि टाइम्स




खबर :-भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज़ उठाएं : सतर्कता आयोग

नज़र -सच्ची सर ..एकदमे फ़ायनल कह दीजीए सर ...काहे से कि बाद में आप लोग कहते हैं कि ...का रे तुम पब्लिक लोग जईसे ही सच कहने के लिए कुछ कहते हैं तुम लोग सब गरियाने लगता है । सर ई तो बताईये कि केतना उठाना है आवाज को ..मतलब हम लोग तो गरीब गुरबा हैं न सर जादे से जादे बांस बल्ली में बांध के उठा सकते हैं ...आउर बहुत कुथ पाद के ....पतंगवा में बांध के उठा सकते हैं ....माने केतना उठाना है आवाज को कि आप लोग को दिखाई दे सके । अरे सर ! का है कि जादे बार इसलिए पूछ रहे हैं काहे कि आप लोग का आफ़िस दिल्लीए में है ..और ससुरा भ्रष्टाचार का सेंट्रल ऑफ़िसवा भी दिल्लीए में न है ...तो उका आवाज में का साइलेंसर लगा हुआ है जी

_____________________________________________________________________
खबर :-करवाचौथ को लेकर महिलाओं में उत्साह का माहौल

नज़र -हां त करवाचौथ को लेकर महिलाओं में उत्साह नहीं रहेगा तो का ...पुरूषों में रहेगा जी ..आयं चूडी , साडी , बिंदी , मेहंदी , झुमका , पायल , कंगना , और जाने कौन कौन औजार लेने के बाद लटकाने के बात उत्साह का माहौल अपने न बन जाता है जी ...और ई उत्साह दूना तब हो जाता है जब ..उका पेमेंट सब ठो ..चांद जी कर रहे होवें ..। अबे काहे का कडुवा चौथ ...सब ठो महिलाओं के लिए तो ई एकदम मीठा मीठा चौथ है जी .....। रहा सहा कसर पूरा कर दिए अमिताभ बच्चन जी ..जब से बागबां में इन्होंने खुल्लम खुल्ला व्रत रख लिया ..सब ठो बहुरिया सब एकदम से नरेटी धर लेती है अपने बलम पिया का ...ऐ जी सरम कल्लो ..अमिताभ नहीं बन सकते कम से कम एक काम तो उन जईसा कर दो हो ....बताओ अमिताभ बच्चन जी किए व्रत हेमामलिनी के लिए ...अरे अईसन व्रत तो सब्बे कर लेगा जी ...मगर हेमामलिनी भी मिले न जी ..छन्नी ले के ...आयं ..ओह मतलब हायं

_____________________________________________________________________
खबर :-कॉमनवेल्थ के बाद दिल्ली लौट आई पुराने ढर्रे पर

नज़र -अबे तो केतना दिन ई लोग ढोंग करके रहेगा बे ..और साले तुम लोग पब्लिक का तो एकदमे छाप देता है ..ई मामा कलमाडी ..और मौसी दीक्षित को तो कुछो नहीं कहा ..ऊ लोग तो कौमनवेल्थवा से पहिले भी कौमनवेल्थवो में और उसके बादो साला ..एके ढर्रा पर रहा ..खूब दुनु हाथ से साला लूट लूट के देश का वेल्थवा को एतना कौमनिया के खाईस कि पूरा देश का लोग कुकुर बनके रह गया .....अरे सुन न रहे थे कि खेलवा में सब तरफ़ कुकुरए कुकुर दिखाई दे रहा था ....ऊ सब ठो पूरा दिल्ली का लोग ही था न कुकुर कहीं का ....

_____________________________________________________________________
खबर :-मेट्रो के महिला कोच में चढे पुरूषों पर लगेगा जुर्माना

नज़र -लो बना दिए नयका कानून .....असल में तो तू लोग न साले बस एतने कर सकते हो ..बल्कि बहुत लेट किया रे ..अलग डिब्बा लगाने में ..हम तो सोचे थे कि ...ई घोषणा तू लोग महिला दिवस मनाने के दिन ....एक दम सान से करेगा कि ..महिला अधिकारों के लिए एक और बडा कदम उठाया गया ...उन्हें ..ऑल कैटेगरी से उठा कर महिला बना दिया गया है ..अलग से महिला कोच ...। अबे हरामखोरों ...सालों तुम्हारी एतनी औकात नहीं है कि एक आम डिब्बे में महिलाओं की सुरक्षा का कम से कम इतनी कि वे इज्जत से यात्रा भी कर सकें .....तो काहे के अलग डिब्बे और काहे के अलग इंजन बे ...अबे कमीनों डिब्बे इंजन से का होगा बे एक अलग से पटरी बना दो न ......और उ पटरी पर अपना ई सब कानून को लिटा देना ...कहना कि आत्महत्या कर ले ..वैसे भी साले कौन सा जिंदा हो बे

_____________________________________________________________________
खबर :-बिहार में यूपी की तर्ज़ पर विकास कराएंगे : मायावती

नज़र -हा हा हा ई तो साला का पैरोडी बनाने टाईप खबर है जी .....

बिहार में यूपी की तर्ज़ पर विकास कराएंगी मायावती ,
हाथी न सही कोई गम नहीं , भैंसिया से काम चलाएंगी मायावती ॥
अरे कौनो चौक चौराहा नहीं बचेगा खाली , न राम , न सही ,
,काशी के राम को लटकाएंगी मायावती .....
जुरम हो गया यूपी में कम , अब बिहारो में क्राईम घटाएंगी मायावती,
कुछ को बना गए लालू जी मंत्री , बकिया को मंत्री बनाएंगी मायावती .....

ई तो साला गजबे खबर था म्युजिकल खबर ..

_____________________________________________________________________
खबर :-हडताल पर रहेंगे टीचर

नज़र -ओहो ...का बात है मास्साब का कलेजा फ़िर दुख गया रे ....ओह ई तो दुनिया एतना बदल गया मुदा मास्साब लोग आजो ओतना संवेदनशील है हो जेतना तब होता जब छाता और छडी से लैस होके जाता था ....बतोओ शिक्षके हडताल करेंगे तो देस का पढेगा ..खाली दीवाले पर लिख लिख के देस को आगे बढा दोगे कि ...सभी पढेंगे, सभी बढेंगे ....अरे महाराज दीवाल न बढेगा ..बढेगा ऊ जौन ऊ दीवाल के अंदर रहता है ....आप करिएगा हडताल तो सोचते नहीं हैं हो ...और एक ठो बात बताईये ..कहियों सब मास्साब लोग ट्यूशन का भी हडताल किए हैं ..कभी अईसन कौनो आंदोलन कि ..एक एक ठो विदायर्थी के घर जाकर कि अपने घर बुलाकर ..स्कूल के जैसा पढा देंगे ...बिना उनका बाप माय का गाढा पसीना को एक्लव्य का अंगूठा समझ के काटे जाते हो यार ..आ तभियो हडताल धुर लानत है यार

_____________________________________________________________________
खबर :-इंटरनेट से करवाचौथ मनाएंगी सुहागिनें

नज़र -बताओ रे भाई ..एक ब्लॉगर को अईसन खबर सुना देते हो साले पगला हो क्या रे ..जो उसका बीवी को पता चल गया न कि ..अबके पति परमेसर हमको चंदा मामा की जगह गूगल बाबा का कौनो अंडा दिखा के ..साईत कौनो स्ट्रॉ घुसेड के कोई मिनरल वाटर के ..दो बूंद जिंदगी के पिला के ही व्रत खुलवाएंगे का ..तो बेटा गूगल , विंडो, दरवाजे , सब भरभरा के उखड जाएंगे हम कह देते हैं हां ...

_____________________________________________________________________
खबर :-रेलवे की १३९ फ़ोन सेवा से गुमराह होते हैं लोग

नज़र -एक तो ई लोग .....चलते ही काहे हैं अईसन राह पर कि गुम हो जाते हैं ..अबे एक बात बताओ ई तीन डिजिट का लंबर का का राह है बे ,,,देखो सौ लंबर का हाल देख लो ..या तो हमेशा ..क्राईम से पहिले पहुंच कर अपना हिस्सा ले के चली जाती है ...न त हमेशा क्राईम के बाद पहुंच कर ..अपना हिस्सा ले ने चली जाती है । अब आओ एंबुलेंस ....ईके लिए तो फ़ेमस हईए है कि , इहां पिज्जवा साला आधा घंटा में पहुंच जाता है ..........मुदा एंबुलेंस जाने कबे पहुंचता है । और बताएं का तीन लंबर का राह और नेशनल हाईवे ,,बहुत है न ...अरे तनिक एक्जाम्पल ...प्लीज़ बी टेकन एज मोर सर ....लिया जाए हुजूर

_____________________________________________________________________
खबर :-सर्दी आने पर ही खत्म हो पाएगा डेंगू

नज़र -काहे ई बार का सर्दी में सीत के साथ कोहरा के साथ ....मोर्टीन मोस्क्यूटो क्वायल का मिक्स्चर भी होगा हो कि डेंगू खत्म हो जाएगा । कि अबके दीवाली पर चीनी पठाखा में मच्छर मार कीटाणु भी डलवाए हो एक लेयर ........तो फ़िर बात का है रे । रे यार ई ..मच्छर सबको स्वेटर जैकेट का जरूरत तो है नहीं कि तुम साले उसको डरा रहे हो कि देखो बेटा अबके बारिश बहुते हुआ है ...और अबकि ठंडा भी खूब पडेगा ..साला ई सब से तो एक आदमी को ही डराया जा सकता है , हा हा हा बताओ जो कहता है कि सबसे शक्तिशाली जीव हैं उसको डराया जा सकता है ,मगर मच्छर को नहीं

_____________________________________________________________________
खबर :-पाकिस्तान नहीं जाएंगे बराक ओबामा

नज़र -हां तो .......लो साला तो अब ई भी खबर बनेगा रे , ..साला ओबामा कहां कहां जाएंगे , कहां नहाएंगे कहां धोएंगे ई सब खबर भी पढना पडेगा ..ओईसे भी साला ई तो पहिले ही पता है सबको कि जहां पर ओसामा होंगे वहां ओबामा नहीं न जाएंगे ....दुनु का अपना अपना स्टेटस है जी ...। हां तो पाकिस्तान न जाएंगे ...फ़िर आगे ..हां हां साले बोलो बोलो ....इंडिया आएंगे ...काहे ओबामा का बाप इहां कुछ छोड गया था जो लेने आएंगे ..। साले वीज़ा देने में नौकरी देने में लोगों के वहां जाने में तो बहुत खराब फ़ील होता है जब देते हो इंडियन सब को ..अब पाकिस्तान नहीं जाएंगे तो इंडिया जाएंगे ...साला नेतवन सब गधा है जो आपको बार बार ई मौका देता है ...हम लोग होते न तो साले वीजवे ..नक्सल एरिया का देते और कह देते ऊ ललका सलाम वाला सबको कि धर लो रे ई मामा को ...साला ओसामा को बेच देना इनको ....बहुत पैसा मिलेगा ..इंडिया आएंगे


_____________________________________________________________________
खबर :-अरुणाचल प्रदेश को चीन ने बताया अपना हिस्सा

नज़र -हां तो ई में लेटेस्ट बुलेटिन का है बे ...ई चीन तो साला जबे देखो इहे करता रहता है ..कभी अरुणाचल प्रदेश को कभी सिक्किम को , कभी नागालैंड को अपना हिस्सा बताता ही रहता है ...असल में कसूर ऊ साला सब का हईयो नहीं है ..रे भाई एक बात बताओ ऊ लोग का खनवा नहीं देखे हो ..चाऊमीन ...इट्स मीन कि चाऊ सबका मीन यानि मतलब अईसने होता है ..एकदम लटपट ..कौन कहां जा रहा है कौन कहां से आ रहा है कुछो पते नहीं है । हम तो कहते हैं कि साले को औफ़र दो कि बिहार और यूपी को भी डिक्लेयर करो न अपना हिस्सा ...सालों तब पता चलेगा जब लालू आ मायावती जईसन मुखमंत्री मिली न तबे बुझाई तोहके कि केतना आसान होता है ???

_____________________________________________________________________
खबर :-बंद होगा फ़र्ज़ी गैस कनेक्शनों का धंधा

नज़र -अबे ए रे खतम हो गया कौमनवेल्थवा सब हो तुम लोग तो साला बसा बसाया धंधा चौपट कर के रख दोगे बे ...। फ़र्ज़ी मतलब अबे ए इस देश में कुछो फ़र्ज़ी नहीं है अईसा अईसा दर्ज़ी लोग बैठा है कि ..फ़र्ज़ी को अपना मर्ज़ी से ..कन्वर्ट कर लेता एकदम ऊ का कहते हैं हां अल्ट्रेशन कर डालता है । फ़र्ज़ी बंद हो गया गैस कनेक्शन तो फ़िर चलेगा कईसे ....अबे ए ई भी नहीं जानता है कि बिना फ़र्ज़ी के जब संसद नहीं चलता है तो धंधा चलेगा बे ...। कुछो नहीं बंद होगा ...कहने भर से हो जाता है

_____________________________________________________________________
खबर :-हिंदी साहित्य को रखें सुरक्षित: डॉ राम नरेश मिश्र

नज़र -बिल्कुल यही तो हम लोक भी कह रहे हैं कि हिंदी खर्च करने लायक नहीं रही अब ...बहुते दुर्लभ टाईप हो गई है ...ई बात का एहसास हमको तब हुआ जब कलुवा परेस बाला कहता है कि ...सर हमरे कैलकुलेशन के हिसाब से तो ..आपका टेन कपडा का टोटल फ़िफ़्टीन रुपीज़ हुआ ...। हम लगा धपाक ....क्या रे कलुआ तू भी ..जैसे उ मनेमन बोल रहा था .....तब का समझते हैं हमरे घर में अंग्रेजी पढावे वाला कनेक्शन है ....। हम सोच रहे थे कि जल्दी हमको गली गली में ..अमिताभ बच्चन का नमकहलाली इंग्लिश देखने को पकिया मिलेगा । हां त सवाल ई है कि ई को सुरक्षित रखें कहां ...कौनो बैंक लॉकर पर तो अब भरोसे नहीं रहा जब से ई स्विस बैंक वाला सब भजपा को कहा कि हम अपना राज आपको दे देंगे ..आप एही मुद्दा पर इलेक्शन डिक्लेयर करवा लीजीए ...लेकिन हें हें हें जीतने सारा दो नंबर माल हमारे यहां ही सब मंत्री का एके साथ खुल जाए तो ...का । तो हिंदी को जमीन के अंदर इतने भीतर तक गाड दिया जाए कि ...अबकि वो इतने गहरे से पैदा हो कि ....उसकी मजबूत जड देखकर अंग्रेजी , फ़ंग्रेजी ..

_____________________________________________________________________
खबर :-एक साल में ढाई करोड पेटी शराब पी गए दिल्लीवासी

नज़र -तब ....बताओ ...त ओईसे ही दिल्ली को दिलवाले का सहर न न कहते हैं ..अरे कौमनवेल्थ के सफ़ल योगदान में बेसक ई मीडिया हम लोग को क्रेडिट न दे ...मगर मामा मौसी ....अबे अब रोज के खबर में बताएंगे कि मामा माने कलमाडी और मौसी माने दीक्षित ....और खिलाडी के साथ दिल्ली बाला नागरिक सब भी अपना तैयारी में बहुत जोर पर था ...जब देखा कि अरिस्स साला टमाटर प्याज दुनु को सौ रुपया में कुल दो किलो बाला रेट से भी अईसने स्टेडियम बना जो ससुरा ..आदमी को बेकार और कुत्ता सब को एक लंबर पसंदिया रहा था ....तो तबिए सभी नागरिक ई सोच लिया और मन ही मन प्रण किया ...कि हे मामे मौसी ..हम आज ही अपना कोटा ड्बल ट्रिपल ..आ मान लीजीए कि उसके बाद होस में रहते हैं आ पूरी तरह से मरियल कुत्ता बने बला हालात से तनिक ऊपर हैं तो कोटा को उहां तक पहुंचा के मानेंगे । बस वो दिन और आज का ये जा वो जा ..ये जा वो जा ...मतलब हम दारू के लिए निकलते थी ..बीवी सीधे मायके को निकल लेतीं थीं ..और आज ये हाल है कि ..किसी के घर में तो कोई पेटी बची है .......और न ही कोट ..दुनु जोड के जो होता है ऊ भी नहीं बचा है काहे से कि ..अरे कहे न सीधे मायके ..।

_____________________________________________________________________
खबर :-छ: पाकिस्तानी खिलाडियों पर फ़िक्सिंग का संदेह

नज़र -छ; पर संदेह हो गया रे ......एके साथ ..कि अलगे अलगे हुआ था ...का कह रहे एके मर्तबा में ....य़ार सच्चे ई लोग बहुत गंदा है भाई ..हमेशा संदेह में रहता है दु हो या छ: ...अच्छा अच्छा छ: खिलाडियों पर फ़िक्सिग का संदेह हुआ है ...चलो यार बांकी तो ..............हां का बांकी तो ...अरे बांकी सब का तो कोई संदेह नहीं..बल्कि पूरा यकीन है ..साला उ सबका तो सुबूतो है कि ..ऊ सब तो सिक्सर नहीं फ़िक्सरे था ....। अब तो सुने हैं साला सब ..दूसरका देस का खिलाडी सब के लिए सुपारी भी ले लेता है ....कहता है कि हम लोग को साले का कोई पाकिस्तानी चयनप्राश का एड करने को मिलता है । मैच के बाद तो अब्बू के साथ एस टी डी बूथ पर बैठे रहना पडता है । चलिए जांचिए ..हम अगला बांचते हैं

_____________________________________________________________________
खबर :-भारत बांग्लादेश की सरहद पर खुलेंगे बाजार

नज़र -कौन बजार ...मंगला हाट , कि शनि बजार ......रे खोलोगे कौन सा बजार ....एक मिनट एक मिनट ....अबे ई बताओ कि साले ई बाजार उजार तू लोग कब से खोलने खोलाने लगा रे ....हम तो देखे हैं कि साला बाजार तो अपने आप खुल जाता है ..जहां चार मकान दिखे उनमें रहने वाले लोग दिखे ..खुल गया बजार ..और छोडो ई जो ....साला शिक्षा का बाजार , बीमारी का बाजार , नौकरी का बाजार खुला हुआ है ...ई तुम लोग खुलवाया है ..बेटा रे ....खुल जाता है ..अपने आप खुलता है समझे । खोल लो ..मगर साला वहां शॉपिंग के बाद बिल काट के जो पैसा दुकनवा वाला सब देगा ..साल सब नकलीए नोट होगा ..ई पकिया है

_____________________________________________________________________
खबर :-गुटखा पाउच के अंदर निकला मरा हुआ बिच्छू

नज़र -रे दद्दा ..तनिक इ खबर का एंगल समझाओ तो पहिले यार ..न न क्लीयर करो .....मतलब कि ओईसे तो गुटखा पाउच के अंदर जिंदा बिच्छू निकलता है अबकि पता नहीं साला मर कैसे गया ...या फ़िर कि देखो रे ...साला सब ई नयका फ़्लेवर के नाम पर बिच्छू का टेस्ट डाल रहा है ..आज तो एक ठो कच्चा माल सप्लाई हो गया ..न त ई कह रहा हो कि देखो रे ....साला कह तो रहा कि ..अबकि डायनासोर निकलेगा पाऊच में ..और असल में डाल बिच्छू रहा है ...चलो रे जिसको मिला तब तकले चिबाओ ....अय्र देखो कि कौन कंपनी का बिच्छू दे रहा है ...ओईसे कलमाडी ब्रांड का लेटेस्ट है ..गजब डंक है साले का डस लिया और ठस लिया ....

_____________________________________________________________________
खबर :-बाइक तले मुर्गा मरने पर युवक की हत्या!

नज़र -अबे ओ .......साला ई तरह का ट्रीटमेंट तो मुर्गा सब को तब नहीं दिया गया था जब मुर्गी फ़्लू फ़ैला था ....ओह का दिन थे ऊ भी ...साला बीस दिन के बाद जाकर पता चला था कि .....ई खोंईचा सिंग साला लगातार रात में डिनर पर काहे बुला लेता था ....साला बाद में पता चला कि साले को सक था कि हम मिसेज सिंग को जादे देखते हैं ..सो कंफ़र्म करके सोचा था कि ..मरेंगे तो साथ में हमको भी मुर्गी मलेरिया करवा के जाएंगे ...ताकि ऊपर जाकर ..अननेसेसरी का टेंसन न रहे साला । अच्छा बाईक कौन था जिसके नीचे मुर्गा को पीच दिए ...अच्छा करिज़्मा ...मगर उसका रफ़्तार तो एतना तेज़ था कि मुर्गा तो उसका रेज़ में आता तो मरता नहीं पक्का ....अरे कह रहे हैं ..तो कुछ सोचिए के न कह रहे होंगे महाराज ...उसका रेंज़ में आता तो ..रोस्टेड चिकने बन के निकलता .....छोडो साला ई मुर्गा मुर्गा बहुत हो गया ...

_____________________________________________________________________
खबर :-बीटेक :जीरो अंक पाने वाला भी पास..

नज़र -अरे राम एतना खराब हालत है रे ......साला बीटेक का टीचर सब एकदम बेसरम आदमी लोग है ..साला अब तकले ज़ीरो देता ही है ....साला कौन जमाना का है रे ई लो ..हमही लोग के याद है कि हम लोग के चौरसिया सर ...सुरू किए थे ...कि रे लईकन सुनो ..जौन जौन को एक लंबर और उससे अधिक पाया है ..वे तो सीधा हाथ के तरफ़ खडे हो लो ...और वे जो बांकी के बच रिए हैं ..मदन पांडे , सलीम चौधरी , हासिम राय ....अरे ए झा ..तुम कहां रे ..चलो इ सबके साथे आ जाओ ..और बस एतना ज़ीरो देते थे एतना जोर जोर से देते थे कि ..कै बार तो हम लोग जोर जोर से लग जाता था ...फ़िर दौड के सौचालय जाना पडता था ...। बीटेक का इ इंजिनीयर सब भारत के काम अपने देस के काम तब आएगा जब कौनो पगलिया फ़िर से देस में ओलंपिक का न्यौता दे आएगा ...ई सब तो साला दो से तीन दिन में गिर जाने वाला पुल बना के विश्व कीर्तीमान बना देगा .....ओह बुलंद भारत की बुलंद तस्वीर तो हमको अभी दिख रही है ....एक दम क्रिश का ..ऊ बडका सीसा बला कंप्यूटर जईसन ..


ओह लगता है एके सांस में पढ गए न इसलिए ..चलते हैं अब संडे से पहिले न मिलेगा खबर अरे ई बाला महाराज ...पढने को ..ओईसे ई सबमें पाबला जी खबर भेज कर जनरेटर को स्टार्ट कर देते हैं बांकी सब ..तो बस धुचुक धुचुक बाला धुंआ ही है


शनिवार, 23 अक्तूबर 2010

.साला एक और राष्ट्रपति वेस्ट हो गया अमरीका .का ......खबरों की खबर यानि झाजी वक्रदृष्टि टाइम्स ....पढिए न ..









खबर :-दिल्‍ली जा रहा विमान पटना पहुंचा, यात्रियों का हंगामा

नज़र :-अरे ई कौन बात हुआ रे ..दिल्ली जा रहा विमान पटना पहुंच गया ....कमाल है यार ..ई दिवाली में कंपनी सब भी कईसा कईसा औफ़र देता है यार । उ पायलटवा साला जरूर पटना का गोल घर देखना चाहता होगा ..बहुत तमन्ना होगा देखने का ..तभिए अईसन कमाल कर दिया होगा । अरे भाई ई में यात्रियों का हंगामा का कौन जरूरत है जी ....अरे बुडबक लोग है यार ...ई काहे नहीं समझता है कि , आजकल पायलटवा सब पहाड नदी , गुफ़ा घाटी ...माने एयरपोर्ट को छोडकर कहियों लैंड कर जाता है ..अरे बंगलौर नहीं देखे थे । आउर हमको एक बात बताओ रे ..उहां से भी तो पिलेने में बैठ कर आए होगे न ..तो ई में हंगामा करने का का जरूरत था । देखो ई दुर्गा पूजा , दीवाली , और छठ में यातायात साधन सब वाया पटना हो जाता है बाय डिफ़ॉल्ट ..अरे हम कह रहे हैं ना यार सचे में ।

______________________________________________________

खबर :-पति ने खोया 12 करोड़ की लॉटरी का टिकट

नज़र :-ओए देखो रे ! ये आधी अधूरी खबर मत लिखा करो बे ..ससुरा स्वाद बेस्वाद हो जाता है ..। और फ़िर ये कोई खबर हुई भी नहीं कि १२ करोड की लॉटरी का टिकट खो दिया ..खबर ये होती कि ...पति ने खोया लॉटरी का टिकट ...साला बारह सौ का भी चलता .....और इस बात की खबर पत्नी को हो गई ...हा हा हा बस कुछ समय बाद ही ..पति ने अपना जीवन भी खो दिया ....या फ़िर कि पत्नी को इस बात की खबर होते ही गिन के बारह सौ..चप्पलों से शाबासी दी गई पति को ..या फ़िर कि पत्नी ने पति को छोडा और उसके साथ चली गई ...जिसे लॉटरी का टिकट मिला ...और .....अबे चलो चलो बे ..सब ठो खबर हमहीं लिखेंगे का ..तुम लोग अपना दिमाग काहे नहीं लगाते हो बे ....ओईसे ही मीडिया बने फ़िरते रहते हो

______________________________________________________
खबर :-अब रियाज नहीं करतीं, केबीसी देखती हूं :लता मंगेशकर
नज़र :-आयं ...ओह मेरा मतलब कि हायं ....तो खेलते हैं हम और आप कौन बनेगा करोडपति ....ओह ई सिचुएशन ...हां हां लता दी होता है अईसन ।एक्चुअली हम आपका कंडीशन एकदम ठीक ठीक एयर कंडीशन की तरह समझ सकते हैं .....जान रहे हैं कि आप इहे चैक करने के लिए देख रही हैं न कि ...कौन बनेगा में केतना कोसचन ..मयुजिकल फ़ील्ड से आता है ..आ कि ई चैक करने के लिए देखती हैं न ..ई सोनी वाला सब टोटल कोसचन में आपका और आशा दी का केतना केतना परसेंट कोसचन पूछता है ..देखिए देखिए दी ..अब बतवा समझ गए हैं तो आप ..मुस्कुरा रही हैं ..। अच्छा अच्छा अब जाए दीजीए ..अब ई तो मते कहिए कि .....ऊ आप अपना जेनरल नालेज बढाने के लिए देखती हैं आ कि फ़ास्टेस्ट फ़िंगर फ़ास्ट के लिए .....अरे जाईए ..आपको कौनो और नहीं मिला बनाने के लिए

______________________________________________________


खबर :-पाक को अमेरिका से मिलेगी भारी सैनिक मदद

नज़र :-अरिस्स बेट्टा ...। साला ई भिखमंगा का कटोरा फ़िर खाली हो गिया रे ..हां त सानिया मिर्ज़ा कौन एतना कमाई थी कि साला पूरा जिनगी ...पाकिस्तान अपना दावत उडाता रहता ....आखिरकार तो मालिक के पास जाना ही न था भिखमंगी के लिए । अरे समझ रहे हैं साला भारी सैनिक मदद ...कह तो साले अईसे रहे हो कि ..पूरा पैंटागन दे रहो उठा के पाकिस्तान को ....कि लो बेटा .....इहां बैठ के बनाओ पिरोगराम ..कि अफ़जलवा और अजमलवा को ...भारत सरकार अभी केतना दिन और ...".नेशनल गेस्ट " बना कर रखेगी । न त फ़िर जरूर साला अपना राष्टपति ओबामा के ही दे रही होगी कि ....ले जाओ ससुर को ..जब यहु साला ..ऊ सार दढियल .....ओसामा बिन लादेन को नहीं ढूंढ पाया ...साला एक और राष्ट्रपति वेस्ट हो गया अमरीका .का ....

______________________________________________________

खबर :-CWG: खेलगांव से एक करोड़ का सामान उठा ले गए ऑस्‍ट्रेलियाई!
नज़र :-हा हा हा हा मतलब साला डबल कमाई चल रहा था ....एक तरफ़ खिलडियन को बोल दिया कि तुम लोग स्टेडियम का माल साफ़ करो ...आउर ऊ जौन साला सब सामान ढोने , धोने ,पोंछने , अरे उ का कहते हैं मसाज करने .....अरे धत बस कीजीए महाराज ...मसाजे तक रहने दीजीए न जी .....साला ऊ सब चादर तकिया तौलिया , आउर सुने है कि कई जगह से कमोडवा भी कबाड ले गया है साला सब । साले कलमाडी मामा सोच रहे होंगे हमहीं अकेले कमाए ...आ ऊ ऑस्ट्रेलिया सरेआम लूट के चल दिया । साला सब पता नहीं एतना सामान लूट के रखा किसमें .....हां रे कुछ तो भी सुने थे कि साला ..तुरंते खत्म हो गया था राष्ट्रमंडल खेल में .....कौन ची तो था रे ......अरे हमको नहीं याद आ रहा है ..छोडिये ..

______________________________________________________
खबर :-शर्मनाकः एयरपोर्ट पर भिड़े दो केंद्रीय मंत्री
नज़र :-हैं शर्मनाक ....ये साला हो क्या है इन दिनों साले हवाई सफ़र को आजकल या तो उसके रिलेसन में ...दर्दनाक खबर आती है ...या शर्मनाक...इस साले नाक को अबकि रामलीला में ही कटवा क्यों नहीं दी बे ...जाने कैसे कैसे भाव उतपन्ना कर रही है ......अच्छा चलो ये मान लेते हैं कि केंद्रीय मंत्री के भिडने को शर्मनाक कह रहे हो ..अबे ए माथा बौरा गया है का रे ....ई सब बात कौनो बोला जाता है रे .....रे अब तो साला मंत्री मंत्री को गरियाया , जुतियाया , धकियाया ..आदि टाईप का खबर तो रूटीन रिपोर्ट है रे ..इमें काहे कि शर्म ...अरे कहो कि इंज्वाय करने की चीज़ है ये ....इस बहाने वो काम तो हो रहा है जो पब्ल्कि करना चाहती है ...का
______________________________________________________
खबर :-घर की रखवाली के साथ कुत्तों से भी भिड़ जाती है 'बकरी'..चीन

नज़र :-हम ओईसे ही तो चीन के फ़ैन न न हैं ...अरे उहां का नकचपटा बौना सब को आप इग्नोर भी करें तैयो....उसका बकरी को , उसका मुर्गी को , उसका टॉर्च को , उसका लाइटर को ..उसका सेल को ..आउ अब तो साला उसका दीवाली लाईट और पटाखा को भी इग्नओर नहीं न कर सकते हैं । कहिए साला कुत्ता सब से भिड जाती है रे ,,,,इहां साला कौमनवेल्थ में सुने अपना कुत्ता सब इंटरनेशनल फ़ेम का स्टेटस मेंटेन् किए हुए था ...और ई चाइनीज बकरी सब कुत्ताकर्म को घिना कर रख दिया एकदम से ..छोडो जाओ हम नहीं लडाएंगे अपना कुत्ता चीनी बकरी से ..हमारे कुत्ते ...ब्रगेडियर थे , ब्रगेडियर हैं और हमेशा ही ब्रगेडियर ही रहेंगे ( साभार राजकुमार जी , फ़िल्ल्म तिरंगा .......आपकी सेवा में हाजिर हूं श्रीमान )

______________________________________________________
खबर :-OC ने कहा CVC से, 'सैंपल्स चाहिए तो निकालो 40 करोड़ रु.महीना'

नज़र :-जे बात ई हुआ न साला सेर पर सवा सेर ....आउर करो जांच ..अबे किस बात का जांच करना है तुमको ..ई जौन बात पूरा देस को पता है अबे देस को छोडो आज टाइम्स का हेडलाईन सुनो ..आखिरकार भारत ने अमरीका की बराबरी कर ली ....एक अमरीका के हैं ओबामा ...और उनकी टक्कर के एक ही और हैं और वो हैं ...वो हैं ..ओ मामा ....बोले तो कलमाडी मामा ..जिन्होंने मौसी के साथ मिल कर ...अबे ए नहीं नहीं ..यार अरे नहीं न कोई भ्रष्टाचार नईं ....अरे किया होगा हम उसके लिए नहीं कह रहे हैं ..कह रहे हैं कि दुनु जन ने मिलके ....पूरा दस दिन तक ....साला रिक्शा बंद कर दिया रे दिल्ली में ........हां बताओ साला पावर का मिसयूज न हुआ ई तो .....हा हा हा साला गजबे खबर हो गया ई तो

______________________________________________________

खबर :-RTI में पूछा, क्या इंजीनियर को सेक्स की बीमारी है?

नज़र :-एक इसिलिए तो साला ई देश में आज कानून का हालत .....एकदमे ऊ अयोध्याभूमि बन गया है ...साठ साल में तो फ़ैसला हुआ है ..उउ भी साला सेमिफ़ायनल ....अभी फ़ायनल का चालीस साल का पारी बांकी है ....अब ई आरटीआई को ही देख लो ...उउ दिन मदनवा ऊ कलुआ को कह रहा था कि ....लगाएं साले आरटीआई ....साला सेकेंड हैंड ट्यूब का दाम ,.,,,,चौंतीस रुपया होता है ...आ साला कलुआ सोच रहा था कि ...अरिस्स ...ई था उ टैक्स जो कह रहा था कि बजट के बाद ट्यूभ सब पर लगेगा .....साला आरटीआई ...गजबे नाम है रे राम सुने हैं कि ई बार एक बौराहा ने ऐसी ही एक आरटीआई लगाई तो उच्च न्यायालय ने जुर्माना ठोंका पचहत्तर हज़ार


______________________________________________________
खबर :-भारत से गए दलितों ने बांगलादेश में मांगा आरक्षण

नज़र :-तब लोग कईसे और काहे कहता कि ई इंडियनवा सब अपना भारतीयता को याद नहीं रखता है कोई ..अरे आरक्षण से बडा नेशनैलिटी का पहचान हो सकता है कोई .....हम तो कहते हैं कि आरक्षण को ही नेशनल के नाम जो कुछ सब ठो दे देना चाहिए ..जैसे नेशनल स्पोर्ट , नेशनल गेम , नेशनल लैंगुवेज ....और माने सब कुछ नेशनल जो है उ आरक्षण है ...। चाबास सुनो अब तुम लग जब शुरू करिए दिए हो तो साला सौ नहीं ....पांच सौ प्रतिशत तक का शेयर डिसाइड कर दो ..काहे से कि देर सवेर इंडिया को भी इसका जरूरत पडेगा तब तुम अपना हुसियारी अपना दोस को दिखाना ...अरे तब ...हम कह रहे हैं न .....हां अरे फ़ेर लो मूंछ पर हाथ ..कोई तीसरा देख रहा है का

______________________________________________________

खबर :-शादी में पत्नी को देख दीवार फांदकर भागा पति, गाज़ियाबाद

नज़र :-अरे साला एतना सदमा लगा ...बताओ तभिए कहते हैं सादी उदी का इंतज़ाम बायगौड ...टेंटवे में ठीक है .साला ई एक्सक्लुसिव सिचुएशन में जादे से जादे ..ऊ को फ़ाड लो और निकल लो ....। बताओ साला केतना सदमा हो जा रहा है आजकल पत्नी को देख के भाई ..अबे ई सरऊ सब को ई कौन समझाए कि शादी में पत्नी ही दिखाई देता है ..अरे यार अगर गर्ल फ़्रेंड भी होगी न तो ..या तो नहीं दिखाई देगी या फ़िर पत्नी ही दिखाई देगी । अरे मार तेरी ई का कह रहे हो ..दूसरा शादी कर रहा था ..पहली पत्नी आ गई तो दीवार फ़ांद कर भाग गया ...का बात है ..इसका मतलब बीवी से जबरद्स्त आतंकित प्राणी था ....


_____________________________________________________

खबर :-हार्मोन भी आपकी जेब की औकात देखकर देते है साथ

नज़र :- अबे हार्मोन हैं कि हारमोनियम बे ...ई तो ससुरा प्रेमिका का ही कौन पार्ट पूर्ट है ..जो जेबि देख कर साथ देता है महाराज ...रे भाई ई और बताते चलो तो कि ..ई फ़ार्मूला खाली जेबे पर न लागू है न ..मान लो रुमाल में मोटरी बांध के चलें तो हार्मोनवा का रिएकश्न रहता है ...अरे साला जांचबे नहीं किए .....तो जांचो न तब तक हम आते हैं ..अरे कल महाराज

मंगलवार, 19 अक्तूबर 2010

"झा जी वक्रदृष्टि टाइम्स " ..बाह बाह ...का अखबार निकाले हैं ..गजबे बुलेटिन है यार ..






खबर :- साढ़े पांच करोड़ लेने के बाद रहमान ने मांगी माफी


नज़र:-हैं साढे पांच करोड लेने के बाद मांगी माफ़ी रहमान जी ..काहे हो अच्छा अच्छा ,,इंडिया बुला लिया ..थीम सांग के लिए न ..हें हें हें ..एकदमे ठीक किए जी ...आपको ही काहे ..इंडिया बुलाने वाले हर शख्स को माफ़ी मांगनी ही चाहिए ...लेकिन एक बात सुनिए हो ...ई एतना ढेर कमा धमा लिए ..एकदम से साढे पांच करोडे लपेट लिए हैं ..आउर तब कहते हैं कि ..ई स्तरीय नहीं था , सुनिए न ..हम भी एक ठो कीर्तन भजन लिखे हैं .....अरे आगामी ओलंपिक के लिए जी । का ! का कह रहे हैं ...ओलंपिक के लिए गनवा लिखने से का होगा जबकि अभी ओलंपिक का कौनो निश्चित नहीं है ..लो कमाले करते हैं आप अरे ई कलमाडी मामा का बैंक बैलेंस देख के तो पता नहीं केतना मंत्री बौराया हुआ है ...नहीं न मानेगा ..बिना ओलंपिक कराए ..अरे जान रहे हैं आप कहिएगा कि ..नहीं हमसे नहीं होगा ...लो तो का हुआ ..बाद में हमहुं माफ़ी मांग लेंगे ....ससुरा एतना हाइली पेड माफ़ी के लिए ..इंडियन आयडल से भी तगडा कंपटीसन हो सकता है ..अरे करा लीजीए महाराज
_________________________________________________
खबर :- अपने विभागों के भ्रष्टाचार पर ध्यान दें शीलाः कलमाड़ी

नज़र:-एकदम ठीक कह रहे हैं मामा ...ई मौसी को सब जगह टांग घुसेडने का आदत हो गया है .,..अरे सबको अपना अपना विभाग दिया गया है जब भ्रष्टाचार करने के लिए तो ..अपने अपने विभाग को खुदे एक्सप्लोर करिए न जी ..अरे बहुत स्कोप है सब जगह मर्दे ...एक से एक कमाल कमाल का आइडिया है ..और फ़िर ध्यान जब खाली भ्रष्टाचार पर ही देना है ...अरे रोकने पर नहीं जी ..दुर महाराज ..ई काम आजकल ई देश में कौनो कर रहा है का ..तो फ़िर मौसी को मामा ठीके न डांटें हैं ...भाई आप को तो मुखमंत्री बना दिया गया है ..माने पूरा दिल्ली का मलकईन ..ऊपर से ..बडकी मौसी पूरा देश का संचालक अध्यक्ष हैं ....तो फ़िर ई में झगडा करने का कौन बात है जी ..अरे पब्लिकवा कोई कह थोडे रहा है कुछ आप लोग के ..आयं

_____________________________________________
खबर :- अब नौकरी की तलाश में जुटा 'शेरा'..

नज़र:- बताओ एतना जल्दी ..शेरा बना हुआ सतीश बिडला जी ..अपना लिए नयका नौकरी ढूंढ रहे हैं ..हां त का करें ..ढूंढना ही पडेगा ...अब तो थोडका दिन के बाद ..जौन खिलाडी सब ..सोना चांदी पीतल लोहा का तमगा जीता है ..ऊ सब भी कौनो न कौनो काम ढूंडबे करेगा न .....अरे ई देश का इहे परंपरा है महाराज ..आऊर चाहे जो भी हो जाए ई देश ..अपना परंपरा को जरूरे निभाता है एकदम से ठोक के । तो शेरा जी अब नौकरी ढूंढ रहे हैं ....मुदा उनका रखेगा कौन ..उनका तो खाली मूंछ आ पूंछ हिलाना आता था ..अब ई क्वालिफ़िकेशन से तो मल्टीनेशनल तो दूर ....भालेसर हाट का सब्जी मंडी में उनका भिंडी बेचने का नौकरी भी न मिल सकता है ..हां ई हो सकता था कि सरकार सिफ़ारिश करती कि ..अब से दुनिया में कहियों ..कौमन वेल्थ गेम्स हों तो ..भारत का कुतवा और शेरा को कंपल्सरी कोर्स की तरह शामिल किया जाए ..तो शेरा को पेडा खाने के लिए मिल सकता था ..मुदा अब तो ....चलिए देखते हैं .....
______________________________________
खबर :- अब महंगाई का पारा भी नापेगा गूगल

नज़र:-आयं ....ई गूगल का तराजू तो कमाले है ..महंगाई का पारा नापेगा बताईये भला ...अरे का का कर लेता है ई गुगलवा जी ...अच्छा अपने देस का भी नाप लेगा का ...अरे कमाले दर्जी है ..सेंटीमीटर में नापेगा कि लीटर में तनिक ई भी पता चल जाता तो बढियां रहता न ..हम लोग के भी जानने में आ जाता ..न तो जईसे सरकार नापती है ..ससुरा जाने कौन ..नप्पी ले के नापती जोखती है ..हम तो कै बार देखे हैं कि ..एतना जोर शोर से कह देती है कि अबकि ..सूचकांक एतना ऊपर गया ....और महंगाई की दर घट रही है अऊर सबसे जादे तो ढोल पीटती रहती है कि ..फ़लांना ढिमकाना विकास एकदमें धनाधन टाईप हुआ है ..मुदा हम जबले बसेसर काका को चैक करते हैं ..सब बार , देखते हैं कि नून तेल डाल के कईसे कईसे तो चिबाते रहते हैं .......उनको का पता सार ई गूगल का और ससुर ई सरकार का ....नापते रहे

_______________________________________________
खबर :- मेट्रो की लागत में मिल जाएगी 5 लाख को कार

नज़र:-आयं अबे बेडा गर्क हो तुम्हारा ..साला होना उलटा चाहिए और तुम करोगे सोचोगे उलटा ही ..अबे एतना मुश्किल से तो लोगों को समझ में आया था कि मेट्रो को खाली अल्टरनेटिव सवारी के रूप में उपयोगे नहीं किया जा सकता है बल्कि ..उसको जादे यूज करने से ई पोलुसन भी काफ़ी कम होता है जी ....एतना दिन बाद तो गलती से एक ठो सही काम हुआ है ऊ में भी लगे ..दाम दिगर करने कि एतना में ..एतना लाख लोग को कार हो जाएगा ..केतना करोड लोग को सायकल मिल जाएगा ....केतना अरब लोग को रिक्शा मिल जाएगा । अबे ई बताओ कि , साला ई कौन तरह का कैलकुलेशन है बे ..चल भाग ....न चाहिए कार ....मेट्रो ही ठीक है रे समझा कि नहीं बौराहा सब बे ....
_______________________________________________
खबर :- पहली बार बसों में पैंट्रीकार व एलसीडी टीवी

नज़र:-हा हा हा रे भाई ..तू लोग भी कमाल है यार ..ई बताओ पहिले कि ई सडल आइडिया सब कौन बनाता है जी ..फ़िर बिना जाने पूछे तू लोग उसपर अमल भी कर लेते हो ..आउर बाद में पब्लिक को अईसे बताते हो जईसे केतना बडका तीर मार लिए हो ..अबे भाई आजकल तो ससुरा मोबाईल से किसी को फ़ुर्सत है हो जो तू लोग का एलसीडी ...और सीसीडी , डीवीडी और जेतना भी टाईप का टीवी है ऊ देखेगा .,,...ऊ भी बस में बैठ कर । अब करो दूसरा बात ..एक बात बताओ तो रे ...ई बस में पेंट्री कार से जादे जरूरी है कि एक ठो सुलभ शौचालय जी ।अरे देखो यार ...ई खाना पीना तो कहियों चल जाता है जुगाड से ..ढाबा ढूबा का कौनो कमी नहीं होता रस्ते भर में ...मुदा ई खाने पीने के बाद जब ..परेसरवा जोर मारता है न तो बप्पा रे ..मन करता है कि ई ससुरा स्टेयरिंग चाहे ड्राईवर के हाथ में रहे ..मुदा ब्रेक तो पकिया सवारी के ही हाथ में होना चाहिए ..का कहते हैं ..


_____________________________________________
खबर :- 4 माह में सरपंच के 2 बच्चे! जयपुर

नज़र:-लो बताओ भला ....तब लोग शोर मचाता है कि का तो भारत में लोकतंत्र में सरपंच सब को कौनो अधिकारे नहीं है ..बेचारा सब एकदमे दीन हीन है ..अबे तो ई का कोई दीन हीन आदमी का काम है का बे ...सिर्फ़ चार महीने में दू टो बच्चा हो गया ....ई ससुरा ..गोरमेंटि अनुदान के लिए लोग बाग केतना पगला जाता है ....अरे भईया सरपंच जी ..चलिए ई भी माने कि दु ठो बच्चा के नाम से आपको ..रासन कार्ड न त कौनो आउर स्कीम स्कूम में कोनो फ़ेदा उठाने के चक्कर में ..भर दिए होंगे जादे उनिट न हो जाता है इसलिए ..लेकिन हो महाराज तनिक टाईम इंटरवेल तो अईसन रखिए हो कि ...साईंसवा को भी एतना जोर का झटका नहीं लगे ..कि बेचारा सुसाईड कर मारे । सोच रहे हैं कि साईंटिस्ट सबको पता चलेगा तो जयपुर के ई सरपंच साहब को कहेंगे ..घणी खम्मा हुकुम ...कईसे हुआ ई जुलुम ??

_____________________________________________
खबर :- जांच एजेंसियां एक माह में रिपोर्ट सौंपें

नज़र:-अबे सरकारी बाबू की तन्ख्वाह है का ..कि चाहे कुछ करो न करो ..एक माह में बराबर सौंपनी ही पडेगी ...रे है कौन ई एजेंसी बे ..जो एक माह में रिपोर्ट सौंपेगी । ओहो ! तो ई बवाल ..राष्ट्रमंडल खेल के बारे में है ..अऊर जांच एजेंसी ..पूरा जांच करके एक माह में रिपोर्ट सौंपेगी ..मुदा तनिक ई बताया जाए महाराज कि रपटवा आखिर कौन फ़ील्ड का तैयार करवा रहे हैं जी ..ई खिलाडी सब अचानके ...आपके बियोंड द एक्सपैक्टेशन जाके ....एतना सारा मेडल कैसे जीत लिया ...जबकि कौनो फ़ैसिलिटी भी नहीं दिए थे इसका ..कि मामा कलमाडी और मौसी दीक्षित में से केकर बैंक बैलेंस ....एकदम धडाक दनी बढ गया इसका । ओहो अब समझे .....जांच एजेंसी एक माह में ई पता करेगी कि ..आखिर कौन कौन ..देश से परदेश से ..कौन स्टेट से कुतवा ,बंदर सब कौमन वेल्थ में पार्टिसिपेट करने आया था ...रुको रुको ..अबे ई साला तू लोग कहीं भ्रष्टाचार का पता करने कराने वाला नाटक तो फ़िर नहीं न शुरू किया है न रे ..देखो ई रामलीला ई देस का लोग ..अब जाने केतना बार देख चुका है इसलिए अब तो माफ़े करो भईया ....
___________________________________________________
खबर :- राष्ट्रमंडल खेलों से देश के छवि खराब हुई है :मणि शंकर अय्यर

नज़र:-आयं ई का कह रहे हैं अय्यर साहब ..तनिक क्लीयर किया जाए न सरकार । कौन एंगल से कह रहे हैं जी ..एतना तमगा तो खिलाडी सब जीत लिया कि ...अब तो कौमन वेल्थ देख रहा ..एक ठो कौमन मैन इहे सोच रहा है कि ..साला टिकट लेके ई देखने से तो अच्छा था ....कि भागे ले लेते ..साला कौनो ने कौनो मेडल तो था ही अपना ...नाम दाम अलग से मिलता ..आ आप कह रहे हैं कि देश की छवि खराब हुई है । अब देखिए ....जे आपका इसारा ...उ कुकुर , बंदर , सांप , बिछौना , स्वीमिंग पूल वाला घटना सबसे है ..तो फ़िर अपना जी के ठीक करिए जी .....अरे ऊ सबके कारण कब
_________________________________________________
खबर :- गन्ने के खेत से साढे पांच हजार बोतल शराब बरामद उत्तर प्रदेश

नज़र:-बताईये ...केतना ठर्रामय होता जा रहा है ई देस ...जौन खेत से चीनी निकलना चाहिए थी ( अरे कुसियार , गन्ना जी , ) ऊ खेत से दारू का बोतल निकल रहा है ...तो फ़िर कहिएगा कि नहीं ...यूपी में है दम ...जो न हो जाए कम ...।हाथी सायकल की टक्कर है ...जनता फ़िर भी फ़क्कड है । अऊर तमाम तरह का स्लोगन ..स्टेनगन सब उपी में न बनता है जी ..आखिर जमीने एतना उपजाऊ है तो का होगा ....जब गन्ना का खेत से ...दारू का बोतल निकल सकता है तो कल को ....दारू का फ़ैक्ट्री से डबल रोटी भी निकल सकता है जी ..जय हो माया की माया ...हाय ये क्या निकल के आया
____________________________________________
खबर :- रेलवे ड्राईवर बनना चाहते थे ओमपुरी

नज़र:-अच्छा ...कौन रेल चलाने का मन था ई भी बताईये दीजीए ..जरूर ई ख्याल आपको मेट्रो टरेन देख कर आया होगा ..हां हां अरे हम कह रहे हैं न ..जब इंजनवा से लेकर कर बोनटवा तक में एसी फ़िट होगा तो चलईबे करिएगा टरेन ..ऊ कोयला झोंकने वाला में बने होते न ड्राईवर तो ....ओमपुरी से सदाशिव अमरापुरकर बन जाते जल्दीए । आउर जौन हिसाब आजकल ट्रेन ठोकाठोकी चल रहा है ...आप जल्दीए लौट के .....बॉलीवुड हॉलीवुड करे लगते ......अब मन है तो कहिए ..। अरे दीदी हैं न ....नहीं दुरंतो ..माल गडिया तो मिलिए जाएगा ..ट्राई मारने के लिए ...कहिए एप्लाई करना है का
___________________________________________________
खबर :-जल्‍दी मरने को कहा तो 'रावण' को आया गुस्‍सा, रामलीला स्‍टेज पर ही की मारपीट

नज़र :-हा हा हा ..का बात है ..ई हुई न कोई खबर ..सार ई कलजुग में जो न हो थोडा है ....एक तो बेचारा रावणवा ..केतना ड्यूरेबल निकला कि देखो ....सतयुग से लेकर अब तकले साथ निभा रहा है ...हर साल दस दिन तक नाचता कूदता है ..फ़िर उसके पिछवाडे पटाखा लगा के ..सब लोग केतना खुसी मनाता है ..ऊपर से जुलुम ई कि सरे आम उसको स्टेज पर आप कहिएगा कि जल्दी से मर मरा जाए ..तो होईबे करेगा न ..अरे रावण का भी टोलरेंस पावर आजकल पोल्यूटेड न हो गया है जी ....। हा हा हा बताओ ..रावण को बेचारा को मारपीट का नौबत आ गया है ...देखना कौनो दिन पक्का अपना पिछवाडा में लगा आग को बुझाने के लिए ..दौड कर किसी के स्वीमिंग पूल में कूद जाने टाईप का खबर भी पढिए लीजीएगा आप लोग

__________________________________________
खबर :- चिदंबरम के घर की फोटो खींची, छात्र कर लिए अरेस्ट


नज़र :- आयं ..फ़ोटो खींचा ..ऊ भी चिदंबरम के घर का ...एकदमे एरेस्ट होने वाला काम किया था ..ई जो भी किया था ..अबे ई भी कौनो फ़ोटो खींचने का चीज़ था ...साला आउट डेटेड माल को कौन देखता है यार ...अरे खींचना था तो कलमाडी मामा का न तो मौसी का घर द्वार दलान , खलिहान का फ़ोटो खींचता ....ई लुंगी बाबा का फ़ोटो खींच के जौन गुनाह किया उका भुगतान तो करना ही था,.....भुगतो...,
_________________________________________
खबर :- 1300 करोड़ में वाजपेयी को खरीदने की हुई थी कोशिश

नज़र :- अब्बे का कह रहे हो यार सच्चे .......ठीक कहो ..कसम से ..आयं पक्का न ..रे ई सब भी होता है ....वाजपेयी साहब बिकाऊ भी थे ...कमाल है यार ..। और कौन कौन था लिस्ट में ..पूरा सूची ..माने रेट लिस्ट साटिये हो ...हम पब्लिक लोक के भी तो पता चलना न चाहिए कि ..हम लोग के नेता लोग का ..वैट वुट लगा के कुल केतना कॉस्ट पडता है ..अच्छा सुनिए .ल.ई खरीद कौन रहा था ....चलिए छोडिए का ....पूछें आप से और का बताएंगे आप ..फ़िर केतना बताएंगे आप ..

ओह आंख दुखने लगा जी ..तनिक झंडु बाम लगा के आते हैं ....

"झा जी वक्रदृष्टि टाइम्स " ..बाह बाह ...का अखबार निकाले हैं ..गजबे बुलेटिन है यार ..



खबर :- साढ़े पांच करोड़ लेने के बाद रहमान ने मांगी माफी


नज़र:-हैं साढे पांच करोड लेने के बाद मांगी माफ़ी रहमान जी ..काहे हो अच्छा अच्छा ,,इंडिया बुला लिया ..थीम सांग के लिए न ..हें हें हें ..एकदमे ठीक किए जी ...आपको ही काहे ..इंडिया बुलाने वाले हर शख्स को माफ़ी मांगनी ही चाहिए ...लेकिन एक बात सुनिए हो ...ई एतना ढेर कमा धमा लिए ..एकदम से साढे पांच करोडे लपेट लिए हैं ..आउर तब कहते हैं कि ..ई स्तरीय नहीं था , सुनिए न ..हम भी एक ठो कीर्तन भजन लिखे हैं .....अरे आगामी ओलंपिक के लिए जी । का ! का कह रहे हैं ...ओलंपिक के लिए गनवा लिखने से का होगा जबकि अभी ओलंपिक का कौनो निश्चित नहीं है ..लो कमाले करते हैं आप अरे ई कलमाडी मामा का बैंक बैलेंस देख के तो पता नहीं केतना मंत्री बौराया हुआ है ...नहीं न मानेगा ..बिना ओलंपिक कराए ..अरे जान रहे हैं आप कहिएगा कि ..नहीं हमसे नहीं होगा ...लो तो का हुआ ..बाद में हमहुं माफ़ी मांग लेंगे ....ससुरा एतना हाइली पेड माफ़ी के लिए ..इंडियन आयडल से भी तगडा कंपटीसन हो सकता है ..अरे करा लीजीए महाराज
_________________________________________________
खबर :- अपने विभागों के भ्रष्टाचार पर ध्यान दें शीलाः कलमाड़ी

नज़र:-एकदम ठीक कह रहे हैं मामा ...ई मौसी को सब जगह टांग घुसेडने का आदत हो गया है .,..अरे सबको अपना अपना विभाग दिया गया है जब भ्रष्टाचार करने के लिए तो ..अपने अपने विभाग को खुदे एक्सप्लोर करिए न जी ..अरे बहुत स्कोप है सब जगह मर्दे ...एक से एक कमाल कमाल का आइडिया है ..और फ़िर ध्यान जब खाली भ्रष्टाचार पर ही देना है ...अरे रोकने पर नहीं जी ..दुर महाराज ..ई काम आजकल ई देश में कौनो कर रहा है का ..तो फ़िर मौसी को मामा ठीके न डांटें हैं ...भाई आप को तो मुखमंत्री बना दिया गया है ..माने पूरा दिल्ली का मलकईन ..ऊपर से ..बडकी मौसी पूरा देश का संचालक अध्यक्ष हैं ....तो फ़िर ई में झगडा करने का कौन बात है जी ..अरे पब्लिकवा कोई कह थोडे रहा है कुछ आप लोग के ..आयं

_____________________________________________
खबर :- अब नौकरी की तलाश में जुटा 'शेरा'..

नज़र:- बताओ एतना जल्दी ..शेरा बना हुआ सतीश बिडला जी ..अपना लिए नयका नौकरी ढूंढ रहे हैं ..हां त का करें ..ढूंढना ही पडेगा ...अब तो थोडका दिन के बाद ..जौन खिलाडी सब ..सोना चांदी पीतल लोहा का तमगा जीता है ..ऊ सब भी कौनो न कौनो काम ढूंडबे करेगा न .....अरे ई देश का इहे परंपरा है महाराज ..आऊर चाहे जो भी हो जाए ई देश ..अपना परंपरा को जरूरे निभाता है एकदम से ठोक के । तो शेरा जी अब नौकरी ढूंढ रहे हैं ....मुदा उनका रखेगा कौन ..उनका तो खाली मूंछ आ पूंछ हिलाना आता था ..अब ई क्वालिफ़िकेशन से तो मल्टीनेशनल तो दूर ....भालेसर हाट का सब्जी मंडी में उनका भिंडी बेचने का नौकरी भी न मिल सकता है ..हां ई हो सकता था कि सरकार सिफ़ारिश करती कि ..अब से दुनिया में कहियों ..कौमन वेल्थ गेम्स हों तो ..भारत का कुतवा और शेरा को कंपल्सरी कोर्स की तरह शामिल किया जाए ..तो शेरा को पेडा खाने के लिए मिल सकता था ..मुदा अब तो ....चलिए देखते हैं .....
______________________________________
खबर :- अब महंगाई का पारा भी नापेगा गूगल

नज़र:-आयं ....ई गूगल का तराजू तो कमाले है ..महंगाई का पारा नापेगा बताईये भला ...अरे का का कर लेता है ई गुगलवा जी ...अच्छा अपने देस का भी नाप लेगा का ...अरे कमाले दर्जी है ..सेंटीमीटर में नापेगा कि लीटर में तनिक ई भी पता चल जाता तो बढियां रहता न ..हम लोग के भी जानने में आ जाता ..न तो जईसे सरकार नापती है ..ससुरा जाने कौन ..नप्पी ले के नापती जोखती है ..हम तो कै बार देखे हैं कि ..एतना जोर शोर से कह देती है कि अबकि ..सूचकांक एतना ऊपर गया ....और महंगाई की दर घट रही है अऊर सबसे जादे तो ढोल पीटती रहती है कि ..फ़लांना ढिमकाना विकास एकदमें धनाधन टाईप हुआ है ..मुदा हम जबले बसेसर काका को चैक करते हैं ..सब बार , देखते हैं कि नून तेल डाल के कईसे कईसे तो चिबाते रहते हैं .......उनको का पता सार ई गूगल का और ससुर ई सरकार का ....नापते रहे

_______________________________________________
खबर :- मेट्रो की लागत में मिल जाएगी 5 लाख को कार

नज़र:-आयं अबे बेडा गर्क हो तुम्हारा ..साला होना उलटा चाहिए और तुम करोगे सोचोगे उलटा ही ..अबे एतना मुश्किल से तो लोगों को समझ में आया था कि मेट्रो को खाली अल्टरनेटिव सवारी के रूप में उपयोगे नहीं किया जा सकता है बल्कि ..उसको जादे यूज करने से ई पोलुसन भी काफ़ी कम होता है जी ....एतना दिन बाद तो गलती से एक ठो सही काम हुआ है ऊ में भी लगे ..दाम दिगर करने कि एतना में ..एतना लाख लोग को कार हो जाएगा ..केतना करोड लोग को सायकल मिल जाएगा ....केतना अरब लोग को रिक्शा मिल जाएगा । अबे ई बताओ कि , साला ई कौन तरह का कैलकुलेशन है बे ..चल भाग ....न चाहिए कार ....मेट्रो ही ठीक है रे समझा कि नहीं बौराहा सब बे ....
_______________________________________________
खबर :- पहली बार बसों में पैंट्रीकार व एलसीडी टीवी

नज़र:-हा हा हा रे भाई ..तू लोग भी कमाल है यार ..ई बताओ पहिले कि ई सडल आइडिया सब कौन बनाता है जी ..फ़िर बिना जाने पूछे तू लोग उसपर अमल भी कर लेते हो ..आउर बाद में पब्लिक को अईसे बताते हो जईसे केतना बडका तीर मार लिए हो ..अबे भाई आजकल तो ससुरा मोबाईल से किसी को फ़ुर्सत है हो जो तू लोग का एलसीडी ...और सीसीडी , डीवीडी और जेतना भी टाईप का टीवी है ऊ देखेगा .,,...ऊ भी बस में बैठ कर । अब करो दूसरा बात ..एक बात बताओ तो रे ...ई बस में पेंट्री कार से जादे जरूरी है कि एक ठो सुलभ शौचालय जी ।अरे देखो यार ...ई खाना पीना तो कहियों चल जाता है जुगाड से ..ढाबा ढूबा का कौनो कमी नहीं होता रस्ते भर में ...मुदा ई खाने पीने के बाद जब ..परेसरवा जोर मारता है न तो बप्पा रे ..मन करता है कि ई ससुरा स्टेयरिंग चाहे ड्राईवर के हाथ में रहे ..मुदा ब्रेक तो पकिया सवारी के ही हाथ में होना चाहिए ..का कहते हैं ..


_____________________________________________
खबर :- 4 माह में सरपंच के 2 बच्चे! जयपुर

नज़र:-लो बताओ भला ....तब लोग शोर मचाता है कि का तो भारत में लोकतंत्र में सरपंच सब को कौनो अधिकारे नहीं है ..बेचारा सब एकदमे दीन हीन है ..अबे तो ई का कोई दीन हीन आदमी का काम है का बे ...सिर्फ़ चार महीने में दू टो बच्चा हो गया ....ई ससुरा ..गोरमेंटि अनुदान के लिए लोग बाग केतना पगला जाता है ....अरे भईया सरपंच जी ..चलिए ई भी माने कि दु ठो बच्चा के नाम से आपको ..रासन कार्ड न त कौनो आउर स्कीम स्कूम में कोनो फ़ेदा उठाने के चक्कर में ..भर दिए होंगे जादे उनिट न हो जाता है इसलिए ..लेकिन हो महाराज तनिक टाईम इंटरवेल तो अईसन रखिए हो कि ...साईंसवा को भी एतना जोर का झटका नहीं लगे ..कि बेचारा सुसाईड कर मारे । सोच रहे हैं कि साईंटिस्ट सबको पता चलेगा तो जयपुर के ई सरपंच साहब को कहेंगे ..घणी खम्मा हुकुम ...कईसे हुआ ई जुलुम ??

_____________________________________________
खबर :- जांच एजेंसियां एक माह में रिपोर्ट सौंपें

नज़र:-अबे सरकारी बाबू की तन्ख्वाह है का ..कि चाहे कुछ करो न करो ..एक माह में बराबर सौंपनी ही पडेगी ...रे है कौन ई एजेंसी बे ..जो एक माह में रिपोर्ट सौंपेगी । ओहो ! तो ई बवाल ..राष्ट्रमंडल खेल के बारे में है ..अऊर जांच एजेंसी ..पूरा जांच करके एक माह में रिपोर्ट सौंपेगी ..मुदा तनिक ई बताया जाए महाराज कि रपटवा आखिर कौन फ़ील्ड का तैयार करवा रहे हैं जी ..ई खिलाडी सब अचानके ...आपके बियोंड द एक्सपैक्टेशन जाके ....एतना सारा मेडल कैसे जीत लिया ...जबकि कौनो फ़ैसिलिटी भी नहीं दिए थे इसका ..कि मामा कलमाडी और मौसी दीक्षित में से केकर बैंक बैलेंस ....एकदम धडाक दनी बढ गया इसका । ओहो अब समझे .....जांच एजेंसी एक माह में ई पता करेगी कि ..आखिर कौन कौन ..देश से परदेश से ..कौन स्टेट से कुतवा ,बंदर सब कौमन वेल्थ में पार्टिसिपेट करने आया था ...रुको रुको ..अबे ई साला तू लोग कहीं भ्रष्टाचार का पता करने कराने वाला नाटक तो फ़िर नहीं न शुरू किया है न रे ..देखो ई रामलीला ई देस का लोग ..अब जाने केतना बार देख चुका है इसलिए अब तो माफ़े करो भईया ....
___________________________________________________
खबर :- राष्ट्रमंडल खेलों से देश के छवि खराब हुई है :मणि शंकर अय्यर

नज़र:-आयं ई का कह रहे हैं अय्यर साहब ..तनिक क्लीयर किया जाए न सरकार । कौन एंगल से कह रहे हैं जी ..एतना तमगा तो खिलाडी सब जीत लिया कि ...अब तो कौमन वेल्थ देख रहा ..एक ठो कौमन मैन इहे सोच रहा है कि ..साला टिकट लेके ई देखने से तो अच्छा था ....कि भागे ले लेते ..साला कौनो ने कौनो मेडल तो था ही अपना ...नाम दाम अलग से मिलता ..आ आप कह रहे हैं कि देश की छवि खराब हुई है । अब देखिए ....जे आपका इसारा ...उ कुकुर , बंदर , सांप , बिछौना , स्वीमिंग पूल वाला घटना सबसे है ..तो फ़िर अपना जी के ठीक करिए जी .....अरे ऊ सबके कारण कब
_________________________________________________
खबर :- गन्ने के खेत से साढे पांच हजार बोतल शराब बरामद उत्तर प्रदेश

नज़र:-बताईये ...केतना ठर्रामय होता जा रहा है ई देस ...जौन खेत से चीनी निकलना चाहिए थी ( अरे कुसियार , गन्ना जी , ) ऊ खेत से दारू का बोतल निकल रहा है ...तो फ़िर कहिएगा कि नहीं ...यूपी में है दम ...जो न हो जाए कम ...।हाथी सायकल की टक्कर है ...जनता फ़िर भी फ़क्कड है । अऊर तमाम तरह का स्लोगन ..स्टेनगन सब उपी में न बनता है जी ..आखिर जमीने एतना उपजाऊ है तो का होगा ....जब गन्ना का खेत से ...दारू का बोतल निकल सकता है तो कल को ....दारू का फ़ैक्ट्री से डबल रोटी भी निकल सकता है जी ..जय हो माया की माया ...हाय ये क्या निकल के आया
____________________________________________
खबर :- रेलवे ड्राईवर बनना चाहते थे ओमपुरी

नज़र:-अच्छा ...कौन रेल चलाने का मन था ई भी बताईये दीजीए ..जरूर ई ख्याल आपको मेट्रो टरेन देख कर आया होगा ..हां हां अरे हम कह रहे हैं न ..जब इंजनवा से लेकर कर बोनटवा तक में एसी फ़िट होगा तो चलईबे करिएगा टरेन ..ऊ कोयला झोंकने वाला में बने होते न ड्राईवर तो ....ओमपुरी से सदाशिव अमरापुरकर बन जाते जल्दीए । आउर जौन हिसाब आजकल ट्रेन ठोकाठोकी चल रहा है ...आप जल्दीए लौट के .....बॉलीवुड हॉलीवुड करे लगते ......अब मन है तो कहिए ..। अरे दीदी हैं न ....नहीं दुरंतो ..माल गडिया तो मिलिए जाएगा ..ट्राई मारने के लिए ...कहिए एप्लाई करना है का
___________________________________________________
खबर :-जल्‍दी मरने को कहा तो 'रावण' को आया गुस्‍सा, रामलीला स्‍टेज पर ही की मारपीट

नज़र :-हा हा हा ..का बात है ..ई हुई न कोई खबर ..सार ई कलजुग में जो न हो थोडा है ....एक तो बेचारा रावणवा ..केतना ड्यूरेबल निकला कि देखो ....सतयुग से लेकर अब तकले साथ निभा रहा है ...हर साल दस दिन तक नाचता कूदता है ..फ़िर उसके पिछवाडे पटाखा लगा के ..सब लोग केतना खुसी मनाता है ..ऊपर से जुलुम ई कि सरे आम उसको स्टेज पर आप कहिएगा कि जल्दी से मर मरा जाए ..तो होईबे करेगा न ..अरे रावण का भी टोलरेंस पावर आजकल पोल्यूटेड न हो गया है जी ....। हा हा हा बताओ ..रावण को बेचारा को मारपीट का नौबत आ गया है ...देखना कौनो दिन पक्का अपना पिछवाडा में लगा आग को बुझाने के लिए ..दौड कर किसी के स्वीमिंग पूल में कूद जाने टाईप का खबर भी पढिए लीजीएगा आप लोग

__________________________________________
खबर :- चिदंबरम के घर की फोटो खींची, छात्र कर लिए अरेस्ट


नज़र :- आयं ..फ़ोटो खींचा ..ऊ भी चिदंबरम के घर का ...एकदमे एरेस्ट होने वाला काम किया था ..ई जो भी किया था ..अबे ई भी कौनो फ़ोटो खींचने का चीज़ था ...साला आउट डेटेड माल को कौन देखता है यार ...अरे खींचना था तो कलमाडी मामा का न तो मौसी का घर द्वार दलान , खलिहान का फ़ोटो खींचता ....ई लुंगी बाबा का फ़ोटो खींच के जौन गुनाह किया उका भुगतान तो करना ही था,.....भुगतो...,
_________________________________________
खबर :- 1300 करोड़ में वाजपेयी को खरीदने की हुई थी कोशिश
नज़र :- अब्बे का कह रहे हो यार सच्चे .......ठीक कहो ..कसम से ..आयं पक्का न ..रे ई सब भी होता है ....वाजपेयी साहब बिकाऊ भी थे ...कमाल है यार ..। और कौन कौन था लिस्ट में ..पूरा सूची ..माने रेट लिस्ट साटिये हो ...हम पब्लिक लोक के भी तो पता चलना न चाहिए कि ..हम लोग के नेता लोग का ..वैट वुट लगा के कुल केतना कॉस्ट पडता है ..अच्छा सुनिए .ल.ई खरीद कौन रहा था ....चलिए छोडिए का ....पूछें आप से और का बताएंगे आप ..फ़िर केतना बताएंगे आप ..

ओह आंख दुखने लगा जी ..तनिक झंडु बाम लगा के आते हैं ....

गुरुवार, 14 अक्तूबर 2010

आज के बुलेटिन होशियारपुर से ...खबरें नई ..नज़रें वहीं ... फ़्रॉम जस्ट झाजी आईज़ ..आईज़



खबर :- मैं रोमांटिक हूं : सोनम कपूर

नज़र :- ओह अच्छा दिल्ली छ से के इत्ते दिनों बाद आप रोमांटिक हुई हैं ...चलिए फ़िर ठीक है ..सुनिए न ...अब आप डिक्लेयर्ड रोमांटिक टाईप हो गई हैं तो फ़िर तो एक्टिंग खाके करिएगा ..चलिए कोई बात नहीं ओईसे भी पापा कपूर बॉलीबुड हॉलीवुड ,,,सब जगह धर के कूट रहे हैं ..नावां ...तो आप तो बस मस्सकली मस्सकली करती जाईये । अरे हां ...ई बतवा जिसके लिए कहीं हैं ..ऊके पत्नी का नाम का है...अरे देखिए देखिए ईमें गोसियाने का का मतलब है ...आप लोग जब भी रोमांटिक होते हैं नू ..तो कौनो बेचारी का घर फ़ुटिए जाता है ...हे राम का कह रही हैं आप ..ई आपको पते नहीं था ..फ़िर ससुरा ई रोमांटिकियाने का कोन फ़ेदा है जी ??

________________________________________________________________________________

खबर :- एक्सपोज मरजी से करती हूं : नीतू चंद्रा

नज़र :- लो एक ठो तो खाली रोमांटिके हुई थी कि इहां आ गयी उससे भी बडकी नंगटी ...आयं बिटिया ..एतना जबर्दस्त रेस चल रहा है कि , इतना जल्दी अपना मर्जी से एक्सपोज करने लगी हो । हां भाई आखिर "ट्रैफ़िक सिग्नल "पर खडा खडा रह कर कोई केतना एक्सपोज कर सकता है ...अच्छा तनिक ई बताइए न ..एक तो आप लोग डायरेक्टर का मर्जी ...से एतना सेक्सपोज ....ओह माने एक्सपोज कर देती हैं कि पब्ल्कि का तो हॉलवे में माय गे ..बाप रे हो जाता है ..त जब अपना मरजी से करिएगा तो ...का जुलु म कर दीजीएगा हो ...चलिए भाई.....ए जनता लोग ..अरे ए ..सुन लोग ..आउ नोट कर लो ..ई महान अदाकार का जब भी सलीमा आए नू ..तो गलती से फ़ैमिली शो न देखने चल जाना समझे बेटा ..सुन रहा है न रे ....कि खो गया अभिसे से ..
_____________________________________________________
खबर :- आज बिजली बंद रहेगी

नज़र :- बंद रहेगी ...क्यों बे काहे बंद रहेगी ..बे ..कौमन वेल्थ का खिलाडी सबको ..चार्ज करके भेजोगे का ..न त फ़िर ..ई तुम्हरी खाला का बक्सा है कि जब मन किया कह दिए कि .आज बिजली बंद रहेगी ..अरे कुछो नहीं बंद होना चाहिए ..पता है ई तुम लोग का हरकत के कारण केतना लोग अपने गाम का फ़ुलेसरा को करोडपति बनते हुए नहीं देख पाने के कारण प्रेरित नहीं हो पाता है ..और तुम लोग खाली ..आज बिजली नहीं आएगी .....आज पानी नहीं आएगी ..बस इतने में पूरा नौकरी निकाल देते हो ..लाईट तो एकदम भकाभक ..का समझे ...
______________________________________________________
खबर :- काश कोई मिल जाता : कंगना रानाऊत

नज़र :- ल्यो ...एक ठो आऊर आ गईं ..बियापक ..काश कोई मिल जाता ...कोई मिल जाता कि ..कोई और भी मिल जाता ..आ कि फ़िर से कोई मिल जाता ...हमको तो पता है कि आपको ऊ शेखरवा का बेटवा मिला था जी ..अरे मिला का था बल्कि कहिए तो पगला गया था आपके लिए ..अरे का नाम था उसका ...ऊ भी कौनो सुमन था ..छोडिए न..गार्डन का तो पता हईये है न ..उसीका सुमन था ..तो ऊ तो एतना जोर पगलाया हुआ था कि ....बाद में जब उसका बाप धमकाईस है कि ....देख लो , बांकी अभी हमको भी लोग जवान ही कहता है ऐहे से कल को कुछ उपर नीचे हो गया त ..ओईसे भी त खाली सुमन से पहले का ही तो फ़र्क है न ..छौंडा तब जाके बिदक के छोड दिया । अरे मिलेगा जी काहे नहीं मिलेगा ....सुनिए कौनो ब्लॉगर जमेगा का ..नहीं नहीं देखिए इ सब अफ़वाह है कि ..ऊ सब निठल्ला होता है ..अरे अईसा नहीं है ..सुनिए न अरे सुनिए तो ...धू जाओ ससुरी मरो ..भगवान करे तुमको ..काश कोई नहीं ...काश एतना कोई मिले ..कि परेशान हो जाओ

_________________________________________________________
खबर :- बेकाबू होता डेंगू

नज़र :- लो ई कंट्री कराएगा ओलंपिक और इनको ...राष्ट्रसंघ में का तो स्थाई सदस्यता चाहिए ..पूरा वर्ल्ड को काबू में करेंगे ..अरे ए महाराज तनिक अपना अऊकात देखल जाय हो .....पहिले तो कौमनवेल्थ में तू लोग साला ..एतना न कुत्ता बंदर ,,बंदर कुत्ता किया कि ..लगने लगा कि ..ई गेम्स में सबसे जादे कौमन चीज़ कुत्ते है ..आऊर अब ई जाते जाते ..मच्छरवा सब भी तुम लोग का पिछवाडा सुलगाए हुए है .....अरे यार सीधा सा मतलब है ऊनका खुराक चाहिए आ दिल्ली में सरकार दारू को एतना फ़्री कर दी है ..आधा लोग के अंदर तो दारू का ही प्लेटलेट्स बनने लगा है ..मच्छरवा सब करे तो का ..अब तो ससुरा ऑस्ट्रेलिया का भी वीजा न ले रहा है कोई ..हालात ठीक नहीं है न
___________________________________________________________
खबर :-प्याज के बाद अब रुलाएगा आलू

नज़र :हां तो हमको उम्मीद भी यही था कि ...आलू भी कांग्रेसी है ..जिसका हाथ ..और खाली हाथ ही ..आम आदमी के साथ है और आम आदमी ....यही सोच रहा है कि जब सरकार का हाथ ही मेरे साथ जुडा हुआ है तो फ़िर ..भईया हम भी दुर्गा माता ही हैं ..फ़िर तो ....और इतनी शक्ति के बावजूद जईसे आलू प्याज अपने पांव पे खडे होते हैं ....सरकार का हाथ और ...और आम आदमी का हाथ एकदमे अईसन जुडता है कि बस ..

_______________________________________________________
खबर :- किसानों को खुश करने की तैयारी

नज़र :-अरे काहे भाई ....हम ठीके पढ रहे हैं न ...अरे इलेक्शन का केतना दिन है हो ....ई अईसन सुनहरा नारा सब तो यही मौसम मे सुनाई देता है ..किसान को खुश कर देंगे .....गरीब को ट्वेंटी ट्वेंटी टीम खरीद देंगे ....भिखमंगा सबको ....सुरेश कलमाडी के साथ ज्वाइंट अकाऊंट खुलवा देंगे ....कनहा कोतरा को ...मल्लिका शेरावत के साथ हिस्स का लाईव प्रीमियर देखने को मिलेगा ...रे भाई ई पगलाया टाईप बयान उयान मत दिया कर यार ....न्यूज वाले इसे भी यूज ले रहे हैं .....

___________________________________________________
खबर :- नशामुक्ति केंद्रों के लिए बनेगा कानून

नज़र :आयं नशामुक्ति केंद्र के लिए ही बनेगा कानून ...हां हां बनाओ बनाओ ..साला ई देश में किसी के घर रोटी बने न बने ...उसके लिए कौनो कानून जरूर बन रहा है ..ई लोग का कुकर केतना कमाल है रे ..हर हमेशा ही कानून बना देता है ई में ..। रे भाई एक ठो बात तो बताओ ..जब तुम लोग का कानून ई नशेडी सब अपना ठर्रा के बोतल में घोंट के पी जाता है तो फ़िर ....उसका मुक्ति केंद्र के लिए का करोगे कानून बनाके ...अच्छा अच्छा ..कुकर खाली होगा न..बनाओ बनाओ जी
__________________________________________________________________________________________

खबर :-रेस्टोरेंट सिखा रहा है ग्राहक से फ़्लर्ट करना
नज़र:- हें हें हें जरूर ई खबर ..अमरीका का ही होगा , न त फ़्रांस जर्मनी, इंग्लैंड ..कोईयो देश हो सकता है .....भारत का लोग को अभी एतना तमीज कहां आया है कि....कम से कम जो यूथ अपना पॉकेट मनी बचा बचा के ....उन लोग के रेस्टोरेंट आने पर एतना कंप्लीमेंटरी सर्विस ही दे दे ..बेचारा कै ठो तो ..खबर सुनिए के मारे खुशी के बौरा जाएगा ..काहे से कि अभी इंडिया में तो शादी हो जाता है .....चार ठो धिया पुता भी हो जाता है ...मगर बेचारा सब फ़्लर्ट नहीं कर पाता है ....जादे हुआ तो एक आध बार साली को ...पजिया पुजिया लेता ..फ़गुआ होली के बहाने से

____________________________________________________________
खबर :- नारी रसोई में पुरूषों पर भारी

नज़र : - का यार ..अब ई सब लिखोगे कि ...नारी पुरूषों पर कहां कहां भारी है .....रसोई में , गार्डन में , बे..........अरे भक ई कोई समाचार है रे ....ई तो युनिवर्सल ट्रुथ टाईप का चीज़ है ....जेतना फ़ील करिए ..ओतना जस्टीफ़िकेशन मिलता जाएगा ..। और फ़िर रसोई में तो भारी रहबे करेगी ....आखिर एतना सारा चैनल पर खाना किंग का कंपटीसन में ....एक ठो अक्षय कपूर ..,..भनसिया का मास्टर चुनिए के का कर लेंगे ....

_______________________________________________________
खबर :- अमेरिका सेना में समलैंगिकों के लिए रास्ता साफ़

नज़र :-अबे डायरेक्ट क्यों नहीं कहते बे कि .........पाकिस्तान से लडने की तैयारी में लग गया है पाक । हा हा हा खाली रास्ता ही साफ़ किए हो न .....चलो अब फ़िर फ़टाफ़ट भर्ती शुरू कर दो ...जब भर्ती का कौलम भरने के लिए आएगा तो ..सैक्स के कॉलम में लिख देना ..सम टाईम मेल ....सम अदर टाईम फ़ीमेल .....हा हा हा हा हा हा
_______________________________________________________
खबर :-देर तक पाल्थी मारने से आर्थराईटिस का खतरा

नज़र :- चलो एक ठो बात तो पक्का हो गया कि ई नेट पर बैठने वालों को कम से कम एक ठो ई उपरका ससुरा अजीब नाम वाला बीमारी तो नहिंये होगा ..हां ई अलग बात है कि इसके अलावा ....कंधा , कमर , गर्दन , आंख ....सबमें कुनो न कुनो बीमारी तो हईये जाएगा .....तो बताईयेगा ऊ सब के बारे में भी ..ठीक है न

चलिए आज इतना ही काहे से कि ..पंजाबी रावण से हमारा आज शाम का ही अप्वाईंटमेंट फ़िक्स हुआ है न इसलिए ...

सोमवार, 11 अक्तूबर 2010

आज रात नौ बजे मैं आपका इंतज़ार करूंगा ...हायं ...देखिए अमित जी मैं ज्यादा देर नहीं रुकूंगा ..झा जी बुलेटिन ...धू.. मर्दे ..नहीं पढे तो क्या पढे ?




खबर :आज रात नौ बजे मैं आपका इंतजार करूंगा : अमिताभ बच्चन

नज़र :- सर जी . आज रात को .....देखिए ओईसे तो अब हम किसी के जन्मदिन के पाल्टी उलटी में शरीक नहीं होते हैं ..का करें जी ..कामे इतना होता है कि ..कहा का जाए ...मगर अब आपका बात भी तो नहीं टाल सकते न ....काहे से आज तो आप बर्थडे बॉय हैं ....तो आज तो मानना ही पडेगा ...फ़िर आप रिटर्न गिफ़्ट भी तो बडा ही भारी भरकम रखे हैं ...ऊ का कहते हैं आप ...एक अरब दस करोड भारतीय ...कौन बनेगा करोड पति ....पूछिए मत एतना गुदगुदी होता है .....अरे ई सोच के नहीं कि करोड पति बन जाएंगे ..बल्कि ई सोच के कि दुनिया का एतना आबादी तो अपने ही देश में है ...तो फ़िर ई महाप्रलय किसी दूसरा देश का लोग कैसे ला सकता है ,.....अच्छा सुनिए न ..आ तो हम जईबे करेंगे ....मुदा तनिक फ़्री जल्दी कर दीजीएगा ....और हां ऊ ..नि:शब्द वाली हीरोईनी को बुलाए हैं न .....बंकिया तो आपकी जो भी हीरोईन साथिन होगी ...ऊ सबको तो हमको मौसी प्रणामे कह के आना पडेगा .....चलिए आते हैं ....तब तकले आपको ..जन्मदिन का बहुते बहुते मुबारकबाद जी ...काहे से कि रिशते में तो आप सबके बाप होते हैं ...नाम है ..शहंशाह ..... हायं ..।

_______________________________________________________

खबर :रिकॉर्ड तोड आमलेट वजन ४.४ टन

नज़र :- अबे गज्जब यार ..एकदमे ..सन्नाट है ई खबर तो ...पहिले तो ई बताया जाए कि ....ई ससुर चार प्वाईंट चार ...टन का कौन हिसाब होता है जी ...सीधा सवा चार या साढे चार नहीं कर सकते थे ....चलो छोडो इसको .....इससे जादा हौहाहट तो हमको ई बतवा जानने में है कि....एतना लिल्लन टॉप ...मुर्गी कौन पाला है रे ...कसम से एतना बडा बडा अंडा दिहिस है कि ...साला टन टना टन आमलेट बन गया है ...इतना लंबा चौडा आम लेट कि आप उस पर आराम से लेट कर खा सकते हैं उसको ...इसलिए पहिले उसका नाम आमलेट से ...आरामलेट कर दो .....का कहे ...मुर्गी का अंडा का नहीं है ...फ़िर डायनासोर का अंडा का है ...ले बिल्लैय्या ...हमरे सक तो थईये था .....देखा ..हम यदि ...शास्त्री जी ( अरे उहे भविष्य बताने वाले ) का लेंस से पूरा खोजबीन न करें तो .....कोई पूरा खबर पर नज़र नहीं रखता है .....अच्छा ई आमलेटवा को ..दिल्ली खेल गांव में सप्लाई कर दो ..वहां जरूरत है इसकी ...बहुते
_______________________________________________________
खबर :बंगाली तैराक कहलाने पर शर्म आती है :प्रशांत कर्माकर

नज़र :- लो ई का यार ...ई कौन बात हुआ ..अब मेडल जीतने के बाद कैसी शर्म आ रही है भाई ...यार जो ची कमलाडी मामा को आनी चाहिए ऊ तुमको आ रही है ....ई साला हो का रहा है है ..कसम उडानछल्ले की ....कोई कुछो बोले जा रहा है आयं बायं ...अबे काहे बे ..बंगाली तैराक कहलाने में शर्म आ रही है ..तो बिहारी तैराक बन जाओ ...फ़िर कहोगे कि न उससे ठीक तो बंगालीए है ...देखो मिठुन दा सुन रहे हैं ...और बाप्पी दादा भी सुन रहे हैं ..कह रहे हैं .." आम तो सोचा था कि आपना साढे सात किलो गहना में से एक ठु आम पारसांत को भी मेडल बना के देगा ....और तुम हो कि ....जाओ बेटा अब तो मिठुन दा ने भी कह दिया है कि ....वो जल्दी ही चीता , शेरा ,,,या कुछ भी बन कर तुमको जरूर डिस्को डांस कराएंगे ....चल बे शर्म आती है ...चल हट ..हुर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्र........।
_______________________________________________________

खबर :महिलाओं को आता है कम पसीना :बीबीसी रिपोर्ट

नज़र :- यार ये तो कसम से जुलुम है भाई ..अब यही बात कौनो और बोलता तो महिला मंच से एतना लट्ठ बजता कि ..महिला लोग का पसीना भी उसी को छूटने लगता ...मुदा देखो बीबीसी कह रहा है न ...और ओईसे भी ई बात कहने का कौपी किताब राईट ...सिर्फ़ इसी को है ..अरे गौर फ़रमाईये तनिक कंस्ट्रेट करके हुजूर ...बीबी .....सी ...। माने तो घरवाली सी ..तो उहे न बताएगी कि पसीना कम आता है .....यार अब शॉपिंग करने में का पसीना आएगा ..जो आता है उसको आता है जिसका बटुआ होता है ...। ओईसे हमको ई बात पर भी सक है कि ...आता तो है ..मगर ऊ लोग ..अपना मेकअप के सामान में ..जरूर कौनो ..पसीना सोखना रखती होगी ...। अरे हां ऊ कौन एड था रे .....जिसमें ऊ गजनी की सजनी ..( अरे ऊ कौन आसन ...नहीं नहीं आसिन ..हां ) खूबे जोर से बताती है कि देखो ई सोखना लगाईये ..और पसीना सोखाईए ...तब ...तो उको बीबीसी कुछो नहीं कहिस ...अरे छोडो छोडो ....बीबीसी है तो कुछो कहेगा तो मान लेंगे का ...
_______________________________________________________
खबर :मल जल से घरों को गर्म करने की पहल : बीबीसी रिपोर्ट

नज़र :- राम राम राम राम .....ई का हर्बल खबर डाल दिए हैं हो ....साईट पर ...अब पादने ..और त्यागने से ...तो जो भी निकलेगा गर्मे होगा ...ऊ से चाहे घर को गर्म करिए कि ...रजाई के भीतर घुस कर अपने आप को ...राम राम ....ई मा कौन साईंस फ़िजिक्स कैमिस्ट्री है यार ....ई बीबीसी तो बौरा गई है लगता है ...,..बताईये तो ..ई इहां पहल कर रहे हैं ..अरे हमरे इहां तो कबे से पहल दूसर तीसर और जाने केतना तक पहुंच गया है स्कोर ..। अरे तीन बुडबक नहीं देखें है हो ...ऊ में ऊ कौन था मूत्र विसर्जन वाला ...हां चतुरलिंगम ....ऊ का दोहवा याद है न ..वही धुचुक धुचुक ..आ ...सुरसरीय प्राण कटकम ....बताईये ..तभियो भांज रहे हैं कि ..पहल करेंगे ...साला मल जल तो अईसे लिखा मानो ...कौनो नयका ..शीतल .....प्रोडक्ट लॉंच करने जा रहे हो बे ...ऊंहूंहूंहूं .....केतना गनहा गया ..सब लिखते लिखते ..भक ..चलो अगला खबर देखें ..
_______________________________________________________

खबर :कसाब की वजह से बिग बॉस-4 से जाना पड़ा: काजमी

नज़र :- आयं ...क्या के रिए हो ओकील स्साब .....अमां ये कहो मियां कि कसाब की वजह से आपको बिग बॉस में एंट्री मिली ...वैसे ये कसाब की पैरवी करके ये आपने जो ....वो क्या कहते हो यार आप लोग ..नापाक हरकत की थी उस हिसाब से तो आपको ..पाकिस्तान में एंटी मिल जानी चाहिए थी ...मगर ये अपने चैनल वाले ....कुछ पगलाए हुए से रहते हैं ...इस बार तो जईसन लोग को ई लोग बुलाए हैं उससे ..तो ईका नाम ...सीज़न फ़ोर .....नहीं बल्कि ....सीज़न चोर ...रकह देना चाहिए था ...चलिए फ़िर भी आम पब्ल्कि ने तो सब ठीक कर ही दिया न .....अरे आप काहे घबराते हैं ...अभी तो अफ़ज़ल कसाब जईसन केतना क्लाएंट मिलेगा आपको ...अभी तो कसबवा का अपील उपील में भी बहुत फ़ेमस होंगे आप ...बिग बॉस चाहते हैं कि ....आप वहीं रहिए ..।
____________________________________________________
खबर :काम करें या मौज रोज मिलेंगे दो हज़ार सांसदों को

नज़र :- हा हा हा ...ई बताने वाला कौन बात था जी .....ऊ तो हम लोग के पते है कि ..नेतवा लोग चाहे काम करें ...आकि मौज करें ..आकि इनमें से कुछो नहीं करें तईयो इनका दो हज़ार तो सरकार के खाता से जईबे करेगा ...ओईसे ई काम करते हैं ई लोग नहीं नहीं हम लोग के कौनो बात पर ऑब्जेक्शन नहीं है कतई नहीं ....बस ओईसे ही अपना जेनरल नॉलेज बढाने के लिए पूछे हैं ...काहे से कि बच्चा सब पूछ रहा था कि ...जो ई नेतवा सब एतना बडा बडा भाषण छांटता है ...ऊ लोग को काम करते हैं ..काहे से भाषण के बाद ..इनका सबका थोबडा खाली ऊ ..घोटाला , जेल , सजा में ही दिखाई देता है .....लेकिन यार एतना महंगाई में खाली दो हज़ार ...ई तो अन्याय है जी एकदम सरासर अन्याय है ..कह दे रहे हैं ई नहीं न चलेगा .....

_______________________________________________________

खबर :जज की नियुक्ति के लिए कंप्यूटर ज्ञान अनिवार्य : सुप्रीम कोर्ट

नज़र :- अरे ले लप्पड लप्प ...ई का बात बोल दिए मीलार्ड ..हाकिम जी ...का कह रहे हैं ....सचे का ...हें हें हें हें .....एगो बात बोलें ..तब तो ई जौन जो आपके जज लोग हैं न ...आऊर हम लोग ..बोले तो बिलबिलाते रहने वाले बिलागर (ब्लॉगर) लोग में कौनो खास अंतर नहीं है ...पूछिए कैसे ...अरे पूछिए पूछिए ....हम लोग कोई राष्ट्रपति नहीं न हैं जो चौदह दिन लगाएंगे जवाब देने में ...तो ऊ अईसे कि ...हम लोग के लिए भी तो एही रुलवे लागू है ....कि जौन भाई बहिन , माता , चाचा चाची को ...कंप्यूटर का अनिवार्य ज्ञान नहीं है ...ऊ ब्लॉगर नहीं बन सकता .....। ए सुनिए न ....अरे आप तो ठिठियाने लगे ...अरे सीरीयसली ....एक ठो ऑफ़र लीजीए न ...जब क्वालिफ़िकेशन सब सेमवे है तो ...काहे न अईसा किया जाए कि .....आप लोग में से कुछ लोग को हम लोग ....अपने ब्लॉगर में शामिल कर लें ....और हम लोग में से कुछ को ........हें हें हें ....समझ रहे हैं न .....का बात करते हैं ...अब ई से जादे खोल के का कहें मालिक ..देखिए ....तनिक ठंडा मन से सोचिएगा हो ...तो आपको भी दम नज़र आएगा ..ई बात में ...
_______________________________________________________
खबर :शिल्पा और प्रीति की टीमों की छुट्टी

नज़र :- अरे इत्ती जल्दी ...अभी तो कौमन वेल्थ चलिए रहे हैं जी ..तो अभी से कईसे छुट्टी दे दिए जी ...हीरोईनी हैं तो का हुआ ..कौनो कंसेशन नहीं मिलेगा ...। आयं का कहे ..उनका क्रिकेट टीम का छुट्टी हो गया है ...अरे ई दुनु क्रिकेट खेलने लगी थी का ...कब से ...जभिए कहें कि ..ई लोग का पिक्चर काहे नहीं आ रहा है हो ..मैच की तरफ़ तो ध्याने नहीं दिए थे न .....का ...का मतलब ..ई लोग कौनो टीम ऊम खरीदा था ..ऊ सबका छुट्टी हो गया है ...माने अब ऊ लोग का टीम नहीं खेलेगा ...रे मर्दे ..केतना लपेट लपेट के समझाते हो इयार ....अरे होने दो ...ओईसे भी अईसन खबसूरत मलकिनिया सब रहे तो ....ससुरा छुट्टी भी सेलिब्रेट किया जा सकता है ....काहे का कहते हो ...तनख्वाह तो दईबे करेगी ...अरे पूरा यूपी बिहार लूट के बईठल है शिल्पा हो ...खाली पीली लोग केस ...लल्लू जी पर चलाया था ..
_______________________________________________________

खबर :सायकिल रेस में कुत्ते और बंदर भी पहुंचे

नज़र :- एक तो ई सार , कुकुर सब ..ई कौमन वेल्थ गेम्स का सबसे जादे सर्च रिजल्ट मिलने वाला फ़ैक्टर हो गया है ..जन्ने देखो ...खिलाडी पहुंचे न पहुंचे .....अधिकारी पहुंचे न पहुंचे ...एक तो ई कुकुर बंदर आउर दूसरका ऊ ..अरे जौन होता है ..तेज से भी सबसे जादे तेज चैनल वाला सब ..ऊ लोग मिल जईबे करता है ...बताओ यार ...केतना स्मार्ट है ..ई लोग ..काल से जब पहिलवानी आऊर ..तैराकी चल रहा था ..तो नहीं आया ...आता तो पिटाता न तो डूब जाता ...अब राईडिंग का मौका मिला तो आ गया ..ई बनरवा सब अभी कैसे फ़्री है हो ...आजकल तो राम लीला चल रहा है ..ई सबको भेजो ..राम जी के सेना में ...पुल बनाएगा ..आदमी लोग का बनाया पुल देख न रहे हो कैसे भुसभुसा के टूट जा रहा है ....
_______________________________________________________
खबर :स्वयंसेवी कर रहे थे राष्ट्रमंडल खेल टिकटों की कालाबाजारी

नज़र :- लो यार ई अच्छा मुसीबत है ...बेचारा लोग कुछ न करे तईयो गरियाता है सब ...पानी पी पी के आऊर ..अब जब बेचारा दु पैसा का मुनाफ़ा कमा रहा है ..तईयो लोग जान नहीं छोड रहा है ....अरे पॉजिटिव काहे नहीं सोचते हैं जी ..सोचिए कि केतना गजब का मल्टीप्लैक्श ईफ़ैक्कट ...अरे नहीं कुछ दूसरका इफ़्फ़ैक्ट होता है यार ...थ्री डी इफ़्फ़ेक्क्ट ..छोडो ......हां हां हंसिए हंसिए ..हमरी पुअर अंग्रेजी पर ..जो भी इफ़्फ़ैक्ट होता है न ..ऊ पडेगा ..पूरा दुनिया देखेगा तो कहेगा कि देखो ...कह रहा था कि टिकट नहीं बिक रहा है ...इहां तो ब्लैक मार्केटिंग हो रहा है .....मगर एक ठो बात समझ में नहीं आया रे ....जब एतना मारामारी है टिकट के लिए ...तो फ़िर ई लोग टिकट खरीद के स्टेडियम में तो पहुंचता नहीं है ..जाता कहां है फ़िर ..???
_______________________________________________________
खबर :अरबों खर्च के बाद भी नदियां प्रदूषित

नज़र :- धुर मर्दे .....ई का खबर हुआ जी ..पिछला जाने केतना साल से एके बात को लिखते रहते हो यार ....पहिले सौ , हज़ार, लाख लिखते थे ..अब उसको बदल के ..खाली करोड अरब कर दिए हो ..बकिया तो कॉपी पेस्टे है जी ..गंगा ,यमुना , और जो भी नदी है ..ऊ सब में प्रदूषण का पैसा नहीं खर्च होने के कारण बढा है ....अरे पैसा का बात नहीं है जी ...बात है पब्लिक का ..पब्लिक को समझाईये ..कि नदी , मिट्टी , पहाड , पत्थर , पेड ...सब है ..तो इंसान है ...न त बस आईये रहा है समय ...करते रहना महाप्रलय आ रहा है महाप्रलय आ रहा है ...और एके झटका में सब साफ़ हो जाएगा ..ई अरब भी आ सऊदी अरब भी ...मुदा पब्ल्कि को समझाने से पहिले खुद तो समझो न ई बात यार ..
_______________________________________________________

खबर :अब सरसों बिजाई के लिए एसपीएस राठौड ने मांगी पैरोल

नज़र :- का हो डीआईजी ..तबियत चंगा बा न ..मिजाज में कुछ राहत बुझाता .....न न ओईसे ही पूछे हैं महाराज ..कभी कौनो बहाने से तो कभी कौनो बहाने से ...ई पैरोल मांग रहे हो ..अबे ई पै रोल है ..कौनो साला फ़िल्मी रोल नहीं है कि तोहरा मुछिया देख के मिल जाएगा ..ने ही कौनो वेज या अंडा रोल है ..कि लप्प से लिए ...और गप्प से निगल लिए ..बेटा ई तो ऊ रोल है ..जो तुम लोग ..मुजरिम के पिछवाडे.......बंकिया तो आप खुदे केतना इंटेलिजेंट हैं ..एतना बडका अफ़सर हैं ...। आज खुश तो बहुत होगे तुम ....हायं ...
_______________________________________________________
खबर :मशक्कत के बाद अर्जुन मुंडा ने बांटे मंत्रियों के विभाग

नज़र :- अरे ए गुंडा ओह ! मुंडा जी ....का कर रहे हैं यार आप लोग ..ई एतना मशक्कत से तो पहिले ही आप लोग को कैसे कैसे करके तो ई झारखंड मिला है ...चुपचाप राज्य को झाड पोंछ के सजा संवार के तैयार करिएगा विकास करिएगा ..कि आप लोग जब देखो खुदे झाड पर चढे रहते हैं ...अरे एतना कहुं ..लडाई हुआ है ..ई गद्दी के लिए ..धू ..महाराज ....आप लोग के कारण ही वहां पर लोग इंसान से नक्सली नाम के जीव में बदलता जा रहा है ...अब बांट दिए न विभाग ....अब काम शुरू करिए ....अरे ऊ कहां हैं आजकल ..ऊ थे न एक ठो निर्दलीय ..हां कोडा जी ...उनको तो उलटा कर के अईसी जगह पर मधु डाल डाल के कोडा पर कोडा धरिए कि ...झारखंड का सारा माल अपने आप उगल कर रखे दें ..का ..समझे कि और समझाएं
_______________________________________________________
खबर :नेपाल को नहीं मिला नया प्रधानमंत्री

नज़र :- लो दुनु पडोसी का एके हाल है रे बहादुर ......प्रधानमंत्री हमही लोग के कहां मिला था ...बहुते खोजे ...तो एक ठो बहू मिली ....सब कहा न जी इटैलियन सप्लाई है ..का पता भारतीय पॉलिटिकल सॉफ़्टवेयर के साथ कंपैटबल हो न हो ...बहुत खोज खाज के तब हम लोग ..एक ठो सज्जन पुरूष ...ऊ बडे बैंक के चौकीदार थे ..जाने केतना बरस ....उनको घेंट पकड के बैठा दिए ..और बोले कि ...जय माता दी जय माता दी कहता जा ....जो होता है सहता जा ...। मगर देखिए न ...कुछ जमा नहीं ठीक से ..काहे से कि जब उनके अंडर में हम लोग बडका बैंक दिए थे तो ..केतना कमाल का ..हिसाब किताब था ..ऊ मदर इंडिया के हलवाई से भी बढियां ....मगर प्रधानी मिलते ही एकदम से ..सारा मेरिटे गडबडा गया है बेचारे का .....ओईसे हमारे इहां कैंडिडेट का कमी नहीं है जी ...लालू जी को ले जाओ ..और भी हैं ..पूरा लिस्ट भेजते हैं ..

_______________________________________________________
खबर :खालिस्तान आतंकी सहारनपुर में गिरफ़्तार

नज़र :- अबे तो इसमें उनकी क्या गलती है बे ...अब अगर पुलिस जनता के सामने वेरायटी नहीं देगी तो कम से कम आतंकी तो दे ही सकते हैं ....फ़िर कहां लिखा है कि खालिस्तान के आतंकी सहारनपुर में नहीं पकडा सकते ..हमने तो सुना है कि सहारनपुर वाले तो ..खुस हैं कि ...चलो गन्ना किसानों की आत्महत्या के बाद कोई बडी खबर तो छपी ..सहारनपुर के लिए .....हां था कौन ये गिरफ़्तार होने वाला ..यार अभी ऊपर की खबर पर ही पता चला था कि बेचारे ..ऊ कसाब के ओकील साहब ..काजमी साहब ....हाले में ..बेरोजगार हुए हैं ....देखो उनका कुछ जुगाड बन जाए तो ...न न ..ऊ आतंकी स्पेशलिस्ट हैं ..मान जाएंगे फ़ट से ...
_______________________________________________________

खबर :मुशर्रफ़ की हत्या करने पर एक अरब रुपए का इनाम : बलूची नेता

नज़र :- देखा मैं नहीं कहता था कि जरूरी नहीं कि पाकिस्तान में सब कुछ खराब ही होता हो ......अबे सीखो ..सीखो ..सीखो कुछ इनसे इंडिया वालों ....अपने नेताओं से निपटना खाली ऐसे ही कोरी भाषणबाजी से , आंदोलन से , बंद से ,,..नहीं होता है ...कुछ खर्च वर्च भी करना होता है भाई ....देखो तो कितनी दरियादिली से ...इत्ता बडा अमाऊंट अनाऊंस किया है ...कि मारने और मरने वाले को कम से कम ये शिकायत न रहे कि ..यार ये अंडर एस्टेमेटेड ..पेमेंट थी .....। कमाल का इत्तेफ़ाक है साहेब .....आखिर यूं नही कहता कोई कि भारत पाकिस्तान में बहुत सी चीज़ें कौमन हैं ....देखो भारत में आज से शुरू हुआ है ...कौन बनेगा करोडपति ....पाकिस्तान में शुरू हुआ है ..कौन बनेगा अरबपति ......
_______________________________________________________
खबर :बेहतर है राज्य सरकारें रिश्वतखोरी को वैध कर दें : सुप्रीम कोर्ट

नज़र :- ....अरे सर बेहतर ....हम तो कहते हैं कि बेस्ट है सर ..एकदमे बेस्ट है ......लेकिन सर ई अधिकार सिर्फ़ राज्य सरकार सब को ही काहे .,...केंद्र सरकार कौन पाप किया है .....देखिए देखिए ...ई तो नजायज बात है सर जी..दीजीए तो दुनो को एक समान दीजीए ...आखिर दुनु कमाएगा खाएगा ...तभिए न देश ...का भला हो पाएगा ।. सुन रहे हैं सरकार अब तो लाईसेंस भी मिल गया है ..तो हो जाए एक ठो एमरजेंसी संसद सत्र ..और फ़ौरन लागू किया जाए नयका कानून ....दीवाली नजदीक है ..देखिए लेट मत करिएगा ..इहां लोग बाग पहिले से ही मंदी के कारण केतना दुबराया जा रहा है जान रहे हैं ...तो फ़िर कब ला रहे हैं "...द रिश्वतखोरी एक्सैप्टेंस एंड लीगलाईज़्ड बिल और रिपब्लिक इंडिया ".......???

Google+ Followers