इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

बुधवार, 9 मई 2012

पिरधान जी राजमा चावल , पिरधानी पिज़्ज़ा मिली हैं






इस खबर पर :-पुलिस देखती रही दुकान से माल बतोर ले गए चोर


मेरी नज़र :- देखो बे  दुकान से माल बटोर कर ले गए तक खबर एकदम पटरी पे है और पुलिस देख रही है यही क्या कम है वर्ना पुलिस ..अजी असली पुलिस तो अईबे बाद में करती है जब क्लाइमैक्स पूरा हो जाता है , सिलेमा नय देखते हैं हो क्या रे , ओइसे खबर तो ई होना चाहिए था - देश से माल बटोर के ले गए सारे नेता जी आ देखता रहा कानून , बस टुकुर टुकुर , टुकुर टुकुर 








इस खबर पर :- अल जवाहिरी के अपने यहां होने से पाकिस्तान ने किया इनकार
मेरी नज़र :-हा हा हा अबे उससे अईसन क्वेश्चन पूछबे काहे करते हो कि उसको इंकार करना पडता है बेचारा को । ओसमवा से लेकर दाऊदवा तक के लिए ऊ परमानेंटली इंकार बाला बटन दबा के धर दिहिस है , इकरार वाला बटन त तब्बे दबता है जब दान पतरा सब चाहिए होता है , बकिया टोटल में इंकार पर ही टिक करके रखा है सब














 इस खबर पर :-राहुल प्रधानमंत्री से मिले , महाराष्ट्र के सूखा प्रभावित क्षेत्रों के लिए राहत मांगी




मेरी नज़र :- काहे पिरधान जी के घर में सिन्टैक्स का टंकी जादे बडा लगा है क्या जी आ कि महाराष्ट्र में पिरधान जी महासागर वाटर को मिनरल वाटर में बदलने का फ़ैक्ट्री स्थापित करा देंगे । ओईसे भी उनसे मांग के टाइमे खराब कर रहे हैं , ऊ भी तो आगे मेडम्म से न मांगेगें तो डायरेक्टे न अपनी महतारी को कहना चाहिए जी





इस खबर पर :-पांच साल में दस करोड रुपए का गेंहू बरबाद


मेरी नज़र :-वाह रे मेरे अन्नपूरन देस । चाब्बास , ई सुन के ऊ किसान का छाती फ़ट गया होगा जिसके खून पसीने से सींच कर एक एक गेहूं का पौधा को तैयार किया गया होगा आ जुलुम ई कि उहे गरीबी इतना गेहूं के बर्बाद होते रहने के बावजूद उस किसान के घर से कोए न कोई उठा लिया होगा । बाह रे भारत निर्माण

इस खबर पर :-सस्ते दामों पर घरों तक पहुंचेंगी ताजी सब्जियां


मेरी नज़र :- आयं ! सस्ते दामों पर ? अबे हटो , हुर्रर्रर्रर्र , मालूम है मालूम है तुम लोगों का सस्ता दाम ९९९  कहोगे , एक हज़ार नहीं बोलोगे लेकिन ई सब को मारो गोली ई बताओ कि ऊ घरवा सब है कौन आ किसका है जी जिसके घरों में ताज़ी सब्जियां पहुंचेंगे ऊ भी सस्ता सस्ता काहे से कि गरीब के घर का पता तो सरकार के फ़ाईल में चढबे नय करता है ..जईसे जनपथ का पता सबको है ..मुदा पथ पे जो जन सब खडा पडा है ..उसको के पूछे रे बाबू ।






इस खबर पर :-सब्जियों की कीमत पर नहीं गल रही सरकार की दाल


मेरी नज़र :-हायं , अभी तो ऊपर कुछ सस्ता , कुछ खस्ता का गुणगान गा रहे थे बे अब दाल गला रहे हो सरकार जी । जब पिरधान जी राजमा चावल वाले हैं आ पिज्जा वाली पिरधानी मिली हैं त ई दाल सब्जी में त आग लगबे करेगा जी । अब कईसे कोई गाए - दाल रोटी खाओ प्रभु के गुण गाओ
 










इस खबर पर :-ईरान से तेल में कटौती करे भारत : हिलेरी


मेरी नज़र :-ल्यो आ गईं चौधराइन , फ़रमान जारी करने के लिए । इनका पूछा जाए कि हे हो क्लिन्टनमी , आपका बिल्लू त राष्ट्रपति होते होते पता नय कौन कौन पेटरोल पंप पे मुंह मारिस था , आ आप सुनाने आई हैं कि भारत केतना तेल पानी खरीदे केतना नय । माने कल से स्कूटर में पेटरोल के लिए अमेरिका अप्लीकेशन भेजा जाए का .. जियोह्ह रे हमरा भल्ड पाबर बनने वाला देस । साले इहे से एयरपोर्ट पे रोक लेता है तुम लोग को , अबे भगाओ इसको , ई डुबलाहा सब भारत को भी डुबाएगा









इस खबर पर :-तीन बुड्ढों संग बिपाशा


मेरी नज़र :-सत्यानाश हो , नारायण नारायण । जबसे ई ऊ लाला ऊ लाला झिंगा लाला गनवा आया है नू , ई बीडी जलाने वाला नर्तकी सब तो पगलेट टाईप हो गई है । आ हौ तो बिप्स हैं , बिप्स बोले तो उप्स









इस खबर पर :-बाजार को लगे पंख


मेरी नज़र :- अबे समान से लेकर दुकान तक को तो पहिले ही पंख से लेकर पंखा तक लगा हुआ है , सब कुछ हवे में उडता जा रहा है केतनो पैसा निकालो वजन ओतने रहता है सरबा का आ अब बजारे को उडा दो पंख लगा के । आम आदमी उहे पंख का पंखा पे लटक के ,....भारत निर्माण में सहयोग कर देगा ठीक है न








इस खबर पर :-आईपीएल के दर्शक घट रहे हैं


मेरी नज़र :- घट रहे हैं , अरे भक्क , हम तो सुने हैं छोकरे आजकल सट्टा बाजार में दिन रात खट रहे हैं , जिते मैचों के टिकट कट रहे हैं , उससे दुगुने पास बंट रहे हैं , डांस उछ्ल कूद है जोरों पर आ खेल भावना से हट रहे हैं ....अबे हटो बकवास बात है ई तो एकदम्मे बकवास


3 टिप्‍पणियां:

  1. बडे दिनों बाद खबरों की खबर ली है जी आपने
    मजा आ गया सच में

    प्रणाम स्वीकार करें

    उत्तर देंहटाएं
  2. जम कर खबर ली आपने.... ख़बरों की... बीता हुए जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ अजय भय्या!

    उत्तर देंहटाएं

हमने तो खबर ले ली ..अब आपने जो नज़र डाली है..उसकी भी तो खबर किजीये हमें...

Google+ Followers