इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शनिवार, 9 जून 2012

35 लाख में एक जोडा हगनपुर तैयार है सीरीमान











30 लाख हुए बरामद , आयकर निदेशक समेत छह को किया गया गिरफ़्तार ,
अबे लाख करोड से नीचे बाते नय है किसी का ,साले केतना रहे हो हाथ मार ,
(सब साले दुन्नो हाथ से लूटने में लगे हैं , इनका हाथे काट लो यार )

.
आर्थिक हालात पर हम बेबस हैं , कह रहे हैं दांत चियार के देश के पिरधान ,
आ घोटाला करने को इनके सारे मंतरी जी ,भी उत्ते ही विवश हैं सीरीमान म,
(गजब का बलेंस बनाए हुए है गोरमिंट देखिए तो )

.
ल्यो और सुनो बे ,15 जून तक पिटरोलवा , और भी हो सकता है सस्ता ,
अबे का तुम्हरे पिताजी का कारोबार है , कभी बढा दो दाम , कभी कर दो खस्ता ,
(अबे निकलो , हुर्रर्रर्रर्र हट्ट , बांधो अपना बोरिया और बस्ता )
.

संसाधनों की कमी से आ रही है कूडा निस्तारण में बाधा ,
हां यार सच कह रहे हो , तभी देश में इत्ता हाय कचरा बढ गया ज्यादा ,
(आखिर जेल में भी कित्ता कूडा इकट्ठा किया जावे , ससुरे कचरे जमानत पर फ़िर बाहर निकल जाते हैं )

.
दिल्ली विश्वविद्यालय में आज से , शुरू हुई दाखिले की दौडा-दौडी,
साला रिजल्ट के बाद एडमिशन के लिए बच्चा के दिमाग पे चलता रहे हथौडी ,
(अबे इत्ता ट्रेजेडी टाईप का पढाई हम इधरे देख रहे हैं , साला पहिले छोटा दाखिला के लिए मारामारी , फ़िर चोखा रिजल्ट के लिए मारा मारी , आ फ़िर ई कालेज का बडका दाखिला के लिए भी दौडा दौडी , भागम भाग ..अबे लगाओ इस शिश्टम में आग ...खाक करो ससुरे को )

.

सोनिया मेड्डम्म ही तय करेंगी , राष्ट्रपति के प्रत्याशी का नाम ,
दुर छांटिए कोनो को उंगली पकडे के , इत्ता बडका है हम्माम ,
(हम्माम में सब .......................ठंडे होते हैं , हाय हाय तो आप का समझे )

.
फ़िर उठ रही हैं आवाजें , बस अब तो युवराज को ही सौंपी जाए कमान,
अबे भक्क साला , पूरी टीम ही फ़िक्स है बे , चाहे कित्ता बदल लो कप्तान ,
(ससुरों सब मिल के खेल रहे हो बेट्टा ...कंटरी कंटरी )

.
सेवाकर विभाग ने भेजा रामदेव बाबा को पांच करोड का नोटिस ,
चार सौ करोड लिए साईत पांच का जुगाड , सरकार ऐसे ही करने को सोचिस.
(अब बाकी लोक को भी बीस पचीस करोड का नोटिसिया के सरकार काला धन का स्टोक भी पूरा करही के रहेगी , जादे जोश दिलाइएगा तो)


पिरधान जी : देश अर्थव्यवस्था के कठिन दौर से रहा है गुजर ,
आ मंतरी जी , अपना अपना हिस्सा , रहे हैं स्विस बैंक में धर ,
जनता लटकी हुई अधर , बस फ़िरती इधर उधर ,
जो सिरे से गई उखड , तो  सियासत गई उधड ..


कार्यसमिति की बैठक में विरोधियों पर साधा पीएम-सोनिया ने निशाना ,
चोप्प बे एकदम चोप्प , उडा देंगा पब्लिक ,अगर कर दिया शुरू बंदूक को भरवाना
(एक्के फ़ाईट में उनटा के रख देंगे बे)

.
आर्थिक संकट को देखते हुए आरबीआई घटा सकती है ब्याज दर ,
संकट का कटाओ टिकट , गर टोटल घोटालेबाज का नरेटी लो धर ,
(नरेटी माने गर्दन पकड लिया जावे सुसरों का जेहल में लिटा लिटा के पीटा जाए , एकदम पतरका वाला सोटी से सटासट सटासट )

.

योजना आयोग ने दो शौचालयों पर फ़ूंके रुपए पैंतीस लाख ,
बस इसीलिए तो जनता की नज़र में आयोग की है ऐसी साख ,
(हाय हाय इत्ते महंगे में जाने के लिए कम से कम पच्चीस तीस हज़ार का खनवा तो खाना बनता ही है जी , न त का खाली रोटी खा के थोडे जाने देगा कोई जी )

.

ल्यो कल्हे अपना पिरधान जी , ढीला अर्थव्यवस्था पे घोर चिंता जताए हैं ,
आ छोटका पिरधान दन्न से पैंतीस लाख में एक जोडा हगनपुर बनाए हैं
(साला अब मुसीबत तो ई है कि खाली खाना नहीं ई लोग का तो हगना भी बहुत महंगा पड रहा है हो देश को)


.
मोंटेक की ,छह महीनों में विदेश दौरे का , खर्च है टोटल 2.34 करोड रुपए ,
वाह !चाब्बास इत्ते के बाद ही शायद सरकार को कटौती के उपाय सूझे नए .
(274 दिनों की 42 आधिकारिक यात्राओं और ऊपर की छोटी सी राशि के बादे न साइत कनकिलुजन निकला कि बत्तीस रुपया कमाने वाला गरीब नय है )
.

अमां रुको यार , इश्क ,कविता , नज़्म , शेर और यूं गज़ल गज़ल न करो ,
अभी सियासत की बजाने दो तबियत से , किसी और बात में पज़ल न करो
प्यार और मोहब्बत तो करते रहे हैं और करते रहेंगे ,
लेकिन आखिर कब तलक किस्तों में यूं मरते रहेंगे .....
(अभी इहे चलने दो ...जबरार चलने दो )

.

पिरधान जी : आर्थिक विकास की राह में आ रही दिक्कतें हों दूर ,
का बताएं पिरधान जी , एक तो भुसकोल मिला पिरधान , आ उहो मजबूर ,
(धत सार खाली रोजिन्ना एक्के टेप बजाता है बे ई तो)
.


सोनिया की चेतावनी के बाद यूपीए सरकार ने बदले अपने तेवर ,
हां बे पता है केतना बदले हो , पैंतीस लाख का टायलेट में छानोगे अब घेवर
(एकदम से पाकेटमनी रोक दिए का सबका)
.


शौचालयों पर 35 लाख के खर्चे को मोंटेक मानते हैं बिल्कुल सही ,
हां जी एकदम्म , दादा का न खाता है , आ बाप का इनका बही ,
(बेट्टा करते जाओ यही , जितनी भी सियासत तुम्हारी रही )



प्रमोद तिवारी पर गिरी है , यूपी में हुई हार की गाज़ ,
भारत में हार के लिए किस पर गिरेगी , ई भी तय करिए लो आज ,
(अबे डिसाइड कर लो , काहे से कि पब्लिक त डिसाइड करिए चुके है न)

:)

ममता के डर से पेंशन बिल को सरकार ने फ़िर से टाला ,
इसीको कहते हैं , एक बार लगा डाला तो गोरमेंट झिंगालाला झिंगालाला,
(गले में डाला ढोल तो गाइए अब , ऊ लाला ऊ लाला ,)

:)

दोस्त दिए नसीहत , जिस दिन आपको पकडा सरकार जम के धोएगा ,
हा हा हा पकड के देखे तो सही एक बार,खुदे भोकासी पार पार के रोएगा,
(पोर पोर दुखाएगा रे अपन , सुईया अईसन अईसन घुसोएगा)

:)

अल्पसंख्यक आरक्षण के लिए अगले हफ़्ते ,सुप्रीम कोर्ट जाएगी सरकार ,
अबे टोटल दिलाओ न जी , कोर्टवे में परमानेंटली किसी को बिठाओ न यार ,
(ए सुनो बे , अल्पसंख्यक , बहुसंख्यक , जाति ,धर्म , भाषा ,रंग , रोगन , इस्टेटस , बिन्नेस , सबके आधार निराधार पे रिजभेसन लागू कर दिया जाए ...साला एक ठो सीट भिदाऊट रिजभेसन न बचे ..करिए डालो भारत निरमान)

:)

बारिश का पानी सहेजें तो बुझ सकती है फ़िर दिल्ली की प्यास ,
ल्यो जो ई सब कर लेंगे तो , पानी माफ़िया फ़िर बैठ छीलेंगे घास ,
(आ पाकेट का हो जाएगा फ़िर नाश , अईसा मत लगाइए आस)

:)

ल्यो एक ठो गजबे मुद्दा पर आज एक ठो आउर नया बवेला हुआ ,
गडकरी जी ई काहे किए आखिर , बाबा का झुक के पैर काहे छुआ
(अबे भकलोल सब , पैर श्रद्धा , विश्वास , स्नेह , आशीष के लिए भी छुआ जाता है , आदत हो तो अपने आप ही छुआ जाता है , ई में पोलटिक्स काहे घुसेड के देख रहे हो बे)

:)

हा हा हा अभी इंडियन आयडल में एक ठो तानसेन इत्ता घनघोर गाए ,
लिपुश्टिक लगा लगा के कमरिया हिला हिला के , सबको लालीपाप बनाए ,
(आ सबसे सन्नाट त ई रहा कि , एक्को ठो जज आ होस्ट को नय पहचाने , जाओ सारों करते रहो इंडियन आयडल पचास तक , चिन्हबे नय करते हैं तुमको :)


:)

1 टिप्पणी:

हमने तो खबर ले ली ..अब आपने जो नज़र डाली है..उसकी भी तो खबर किजीये हमें...

Google+ Followers