इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

सोमवार, 12 अक्तूबर 2009

आतंकी पाक सेना के मुख्यालय में घुसे...कुछ नहीं जी अपनी तन्ख्वाह लेने गये होंगे

खबर:- आतंकी पाक सेना के मुख्यालय में घुसे...

नज़र :- लो तो भैया अब आदमी अपनी तन्ख्वाह के लिये अपने औफ़िस में नहीं घुसेगा तो कहां जायेगा....और फ़िर सामने दिवाली है तो जाहिर है कि बोनसवा वैगेरह भी होगा...सुने तो हैं कि ई जौन अमरीका से सारा डोनेशन मिला था ई बार ..ऊ सब का सब कसाब के ओकील साहब को फ़ीस देने में खतम हो गया जी..काहे से सुने हैं कि भारत सरकार नहीं न दे रही है उनको कौनो फ़ीस ईहे बात से अधीर होकर बकिया लोग बोला कि भैया अपना अपना तन्खवाह तो लईये लो..
_____________________________________________________________________

खबर :- देश में है पर्याप्त खाद्य भंडार : प्रणब मुखर्जी ..

नज़र :- ओह शुक्र है ..चलिये इसका मतलब ये है कि अब कम से कम इतना तो तय है कि इस दिवाली पर आप लोग सबको दाल चावल का पैकेट ..उपहार में दे सकते हैं...क्या क्या कहा..प्रणव खाने की बात कर रहे हैं..अरे पगला गये हैं का...अब खाने में दाल चावल जैसे खाद्य पदार्थों का उपयोग कौन कर रहा है ..खाने के लिये बर्गर, चाऊमीन, पिज्जा, वैगेरह है न..क्या कह रहे हैं ...किसानों को क्या पता इन सबके के बारे में ..अरे तो उनको कौन पता है अब दाल चावल के बारे में..वैसे भी इस जय हो सरकार में किसान ..खाने पीने की चिंता से मुक्त हो चुके हैं..इसीलिये आत्महत्या कर रहे हैं..उनके लिये क्या खाना और पीना..
______________________________________________________________________

खबर :-१०३ करोड के विमान में उडेंगे गुलाबचंद

नज़र:- लो अब ये भी खबर हो गयी क्या..अबे जब इत्ते का विमान होगा तो जाहिर सी बात है कि उडेंगे ही..तैरेंगे थोडी...अमां खबर तो तब होती ....यदि गुलाब चंद ..बच्चों द्वारा बनाये गये कागज के हवाई जहाज में उड के दिखाते । तब हम मानते कि गुलाब चंद वाकई कुछ हैं।

______________________________________________________________________
खबर:-महिला शिक्षकों को मिलेगी मनचाही जगह पर तैनाती

नज़र :- मनचाही मतलब....कह तो ऐसे रहे हो जैसे ..ऊ अमरीका कहेंगी तो अमरीका में तैनात कर दोगे का...अरे नहीं भाई ई पूछने का कौनो खास मकसद नहीं था ..ऐक्चुअली सुने हैं ..वहां रहने पर आपको नोबेल पुरस्कार मिलने का चांस ..समझिये कि निन्यावे प्रतिशत तो बढ ही जाता है..सुन रही हैं न मास्टरनी जी..अरे वही मास्टरनी नामा वाली..तो मान के चले न ..कि अगला नोबेल आपही को मिलने वाला है .....मुबारक हो जी..

_______________________________________________________________________

खबर :- तिहाड में पंद्रह वर्षों में ३२६ कैदी मरे ..

नज़र :- वाह जी दिल्ली पुलिस सदैव आपके लिये आपके साथ..तिहाड जेल में भी...अपना काम बखूबी करती है...फ़िर भी जाने लोगो को क्या हो जाता है जब देखो आरोप लगाती रहती है पुलिस पर...ठीक है कि उनकी स्पीड थोडी कम है जेल में...मगर इससे उनकी कार्यप्रणाली पर अविश्वास का कोई कारण नहीं बनता जी...ये तो वैसे ही है जी जैसे आपका लैपटौप पर और पी सी पर स्पीड में थोडा बहुत फ़र्क तो पड ही जाता है। वैसे हमें उम्मीद है कि दिल्ली पुलिस जल्दी ही अपनी इस खराब आंकडे को दुरुस्त करके कोई न कोई नया रिकार्ड बनाएगी..

_______________________________________________________________________

खबर :- तीस फ़ीट की दूरी से भी कंप्यूटर को इशारों पर नचाएगा माउस

नजर:- अमा ये माउस न हुआ गोया ..श्रीमती जी हो गया.कंप्यूटर का..जो इतनी दूर से नचा देगा.....चलिये अच्छा है कंप्यूटर नाचेगा तो हमारी पोस्ट भी नाचेगी...मगर एक दिक्कत है जी...ये तीस फ़ीट से नचाने के लिये तो हमें पता नहीं कित्ते पडोस में जाकर कंप्यूटर चलाना होगा जी...ओह ये अविष्कार ..विदेशी लोगों को ध्यान में रख कर किया गया है ..ऊ लोगन तो लगभग सब कामे पडोसी के घर से कर लेता है न...बताईये भला ई में हम लोग के लिये का खबर था
_______________________________________________________________________खबर:- अब मैं आराम करना चाहती हूं, : लारा दत्ता

नज़र :- बताईये भला लोगों को काम काज के बिना भी आराम करने का कितन मन करता है ...अरे दत्ता जी ..पहले तनिक काम तो कर ही लेते....फ़िर तो आरामे आराम है न जी...ओईसे भी आप लोगन को ...कामे कितना मिलता है जी...जादे तो आरामे है न...तो काहे के लिये इतना स्पेशल रूप में बोले हैं जी ..कौनो स्पेशल टाईप का आराम का बात है का..तब तो करबे किजीये जी ..

_______________________________________________________________________

4 टिप्‍पणियां:

  1. भैया जी , बहुत ही बढ़िया खबर दिए है, एसन ही देते रहिये !

    उत्तर देंहटाएं
  2. चलो अच्छा हुआ थोडा चान्स मिले पाकिस्तानी सेना को आमने सामने बहदूरी दिखाने का नही तो बस घुसपैठियों वाला काम करते रहते है..बाकी खबर भी बहुत अच्छी है भाई और प्रस्तुत करने का तरीका और भी मजेदार...धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  3. आतंकी पाक सेना के मुख्यालय में घुसे...कुछ नहीं जी अपनी तन्ख्वाह लेने गये होंगे

    दम है आपकी बात मे..जरूर बोनस का कुछ पंगा रहा होगा..ईद और दिवाली मनाए थे काबुल मे..सो पेमेंट पूरा नही हुआ होगा.
    वैसे बहुत सही और व्यंग्यपरक है आपका यह अंदाज

    उत्तर देंहटाएं

हमने तो खबर ले ली ..अब आपने जो नज़र डाली है..उसकी भी तो खबर किजीये हमें...

Google+ Followers